यूपी पुलिस कभी ‘गरम’ कभी ‘नरम’

कानपुर। दो दिन पहले दुर्घटना में घायल भाई-बहन को जीप में लादकर ले जाने वाली यूपी पुलिस की प्रशंसा होने के दूसरे दिन शहर यूपी पुलिस ने एक बार फिर अपना असली चेहरा दिखा दिया। एक सिपाही ने रंगदारी न देने पर ठेला पलट कर ठेले वाले को लात घूंसों से पीट डाला तो वहीं एक जगह सिपाहियों ने महिला टीचरों के साथ अभद्रता कर डाली। यूपी पुलिस का यह दूसरा रूप शहरवासियों को कतई नहीं भाया और उन्होंने जमकर हंगामा किया।

पुलिस

यूपी पुलिस का पहला कारनामा

 

काकादेव थाने के सिपाही धर्मेन्द्र यादव ने रंगदारी न देने पर चाट का ठेला ही पलट दिया और दुकानदार प्रमोद को गिराकर लात घूसों व डंडे से जमकर पीट दिया। सिपाही की गुंडई से त्रस्त लोगों ने थाने का घेराव कर जमकर हंगामा किया। जब एसपी पश्चिम ने आरोपी के निलम्बन का आश्वासन दिया तब लोगों का गुस्सा शांत हुआ। एसपी ने बताया कि सिपाही को हिरासत में लेकर रिपोर्ट दर्ज की गई है। छह माह पहले भी यह सिपाही रंगदारी व नशेबाजी के चलते लाइनहाजिर किया गया था।

 यूपी पुलिस का दूसरा कारनामा

 

नवाबगंज में पुलिस कर्मियों ने महिलाओं के साथ अभद्रता की। भरौटी निवासी होरीलाल की पत्नी गिरजा देवी को थप्पड़ जड़ दिए। जिससे भड़के लोगों थाने का घेराव किया। इस दौरान विधायक और पार्षद भी पहुंच गए। जब एसपी ने कार्यवाही का आश्वासन दिया तब लोग शांत हुए।

 यूपी पुलिस का तीसरा कारनामा

 

नौबस्ता के हंसपुरम में ऑटो चालक विनोद प्रजापति गाड़ी पर तीन टीचरों को लेकर एक स्कूल का प्रचार कर रहा था। जब सभी टीचर गलियों में चली गई तो वहां चौकी के सिपाही नीरज व सुनील पहुँच गए। ऑटो हटाने को लेकर सिपाहियों ने मारपीट शुरू कर दी। इतने में टीचर भी पहुँच गईं। सिपाहियों ने उनके साथ भी अभद्रता शुरू कर दी। यह देख लोगों ने सिपाहियों को घेर लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों सिपाहियों और ऑटो चालक को लेकर थाने आ गई। एसओ का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

एसएसपी ने कहा की जायेगी कार्यवाही

 

एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि घटनाएं मेरे संज्ञान में आ चुकी हैं। नशे की हालत में ठेले वाले से मारपीट करने वाले सिपाही पर निलम्बन के साथ गैर जनपद तबादले की कार्यवाही की जायेगी। बाकी मामलों में जांच हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button