IPL
IPL

यूरेका, यूरेका पा लिया नवां ग्रह

नई दिल्ली। यूरेका! प्लेनेट 9 सौरमंडल का नवां ग्रह होगा। अमेरिकी वैज्ञानिकों कैलटेक एस्ट्रोनामर माइक ब्राउन और उनके खगोल सहयोगी काँन्स्टेन बेटीगिन ने इसकी घोषणा की है। उन्हें इस बात के पर्याप्त सबूत मिल गये हैं कि सूर्य के मंडल में एक विशाल ग्रह विद्यमान है। इससे इस बात की उम्मीद बंधी है कि हमारे सौरमंडल को शीघ्र ही नौवां ग्रह मिल सकता है, जिसका भार पृथ्वी के आकार से 10 गुना अधिक है और इसका निक नेम प्लेनेट 9 रखा गया है। माना जा रहा है कि सूर्य की परिक्रमा करने में इस ग्रह को 10 से 20 हजार साल का समय लगेगा।

प्लेनेट 9

यूरेका प्लेनेट 9

यह रिपोर्ट एस्‍ट्रोनॉमिकल जर्नल में प्रकाशित की गई है। कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में किए गए एक रिसर्च के अनुसार, यह रहस्यमयी ग्रह नेपच्यून (वरूण) ग्रह से भी दूर स्थित है तथा इसकी कक्षा सूर्य से पृथ्वी की तुलना में 20 गुनी दूरी पर है।

planet-9

इस ग्रह को अभी सिर्फ कंप्यूटर मॉडल पर देखा जा सका है और इसे सीधे तौर पर अवलोकित किया जाना बाकी है। खगोलशास्त्री माइक ब्राउन ने कहा कि हमारे सौर मंडल का एक ठोस हिस्सा अभी खोजा जाना बाकी है और यह बेहद रोमांचक है।

यूरेका

गौरतलब है कि ब्राउन के शोध के आधार पर ही वर्ष 2006 में प्लूटो से सौर मंडल का नौंवा ग्रह होने का दर्जा छिन गया था। ब्राउन ने कहा कि सौर मंडल के उस हिस्से की पहचान की जा चुकी है, कुछ पिंडों पर गुरुत्व प्रभावों का अध्ययन कर इस रहस्यमयी ग्रह का मॉडल तैयार किया है। कुईपर बेल्ट नामक इस क्षेत्र में उन्होंने नेपच्यून के आस-पास कई अन्य पिंडों की स्थिति का भी आकलन किया है। नेपच्यून को सूर्य की परिक्रमा करने में 165 साल लगते हैं। यदि शक्तिशाली दूरबीनों के माध्यम से इसकी मौजूदगी प्रमाणित हो जाती है तो यह प्लेनेट 9 सौर मंडल की नयी परिभाषा लिखेगा और इससे तमाम गुत्थियां सुलझाने में भी मदद मिलेगी। 150 सालों में हम पहली बार इन प्रमाणों के करीब हैं कि हमारा सोलर सिस्टम अपूर्ण है। वास्तव में हम एक विशेष दौर में हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button