यूरोपियन यूनियन में ब्रिटेन को मिलेगा विशेष दर्जा

0

ब्रूसेल्स। यूरोपियन यूनियन में ब्रिटेन को विशेष दर्जा देने का फैसला लिया गया है। अंतिम निर्णय 23 जून को होने वाली यूरोपियन यूनियन की बैठक में लिया जाएगा। फ्रांस, जर्मनी समेत सभी सदस्य देशों ने ब्रिटेन को विशेष दर्जा देने को स्वकृति दे दी है।

यूरोपीय यूनियन में ब्रिटेन

यूरोपियन यूनियन में ब्रिटेन पर हुई बहस

यूरोपियन यूनियन के सदस्यों ने ब्रिटेन के मुद्दे पर दो दिन और दो रात तक चली लंबी बैठक में अंतत: आम सहमति बना ली। इस मौके पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा कि शरणार्थियों के सवाल पर पैदा हुआ गतिरोध अब खत्म हो सकेगा। गतिरोध उनकी मदद को लेकर था। जबकि लिथुआनिया के राष्ट्रपति डेलिमा ग्रिबॉस्काइट ने कहा, ड्रामा पूरा हुआ।

तय होगा ब्रिटेन का भाग्य

यूरोपीय यूनियन से बाहर आने के लिए ब्रिटेन के भीतर बन रहा दबाव फिलहाल कमजोर पड़ने के आसार हैं। फ्रांस, जर्मनी समेत सभी 27 सदस्य देशों ने ब्रिटेन को खास दर्जा देना स्वीकार कर लिया है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने शनिवार को कैबिनेट की बैठक करके नए समझौते के बारे में जानकारी दी। उन्होंने 23 जून की बैठक में ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन में बने रहने के पक्ष में मतदान करने की अपील की। इस रायशुमारी में यूरोपीय यूनियन में ब्रिटेन का भविष्य तय होगा। यूनियन में ब्रिटेन की स्थिति को लेकर फैसला देश के विपक्ष और जनता को करना है।

सर्वसम्मति से हुआ समझौता

ताजा सहमति पर यूरोपीय यूनियन के अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क ने कहा कि समझौता सर्वसम्मति से हुआ है। इससे यूरोपीय यूनियन को मजबूती मिलेगी। यूनियन में ब्रिटेन का खास दर्जा कानून से बंधा हुआ है और अपरिर्वनीय है। यूरोपीय यूनियन की सबसे शक्तिशाली नेता मानी जाने वालीं जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल के अनुसार समझौता साफ-सुथरा और स्पष्ट है। इसको लेकर किसी के मन में दुराग्रह नहीं होना चाहिए। मर्केल ने अपने देश में सीरिया, इराक व अन्य देशों से आए शरणार्थियों को लेकर नए नियमों पर विचार शुरू कर दिया है।

loading...
शेयर करें