पीएम मोदी की राह पर चले सीएम योगी, मंत्रियों को दिया ये मूल मंत्र

0

लखनऊ। यूपी की सत्ता योगी आदित्यनाथ के पास आई है तब से कई बदलाव नजर आ रहें हैं। अधिकारियों और मंत्रियों को राइट टाइम करने के बाद अब उन्होंने अपने मंत्रियों को अपनी सरकार का मुख्य एजेंडा समझा दिया है। उन्होंने अपने सहयोगियों को समझाया कि किस तरह अपने सिद्धांतों पर चलते हुए हमें प्रदेश की जनता की उम्मीदों पर खरा उतरना है।

योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ ने कहा-सभी बेहद सादगी और ईमानदारी से अपना काम करें

अभी एक महीने भी नहीं हुए सरकार बने और योगी आदित्यनाथ की नई सरकार लोगों के दिलों में उतरने लगी है। यही वजह है कि उन्होंने अपने सहयोगियों को यह साफ कह दिया है कि जनता का जनादेश सत्ता का सुख भोगने के लिए नहीं मिली है। सीएम ने कहा कि जब जनादेश इतना मजबूत हो, तो सरकार को भी लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरना होगा और काम करने का एक बेहतर मानक स्थापित करना होगा।

इतना ही नहीं पीएम मोदी की तरह योगी आदित्यनाथ  ने भी अपने मंत्रियों को लगातार काम करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि मेहनत करें, जनता के बीच अपनी जगह बनाएं। उन्होंने कहा कि शनिवार और रविवार की छुट्टियों को भूल जाएं। सभी बेहद सादगी और ईमानदारी से अपना काम करें। सीएम योगी ने सभी मंत्रियों को उपस्थिति पर भी चर्चा की और कहा, ‘बैठकों में सभी की उपस्थिति अनिवार्य है, भले ही वो समीक्षा बैठक हो और उनके विभाग से ना जुड़ी हो।’

अपने मंत्रियों के साथ की हुयी मीटिंग में सीएम ने उन्हें हिदायत भी दी की वो बैठकों में अपना अपना मोबाइल फोन लेकर न आयें। यही नहीं नए सरकारी आवास में गृह प्रवेश से पहले फिजूलखर्ची ना करने की सलाह दी है। योगी ने कहा, ‘शिफ्ट होने से पहले साज-सज्जा में ज्यादा खर्च ना करें। सरकारी आवास की मरम्मत और पुताई करा कर शिफ्ट हो जाएं।’

वहीँ उन्होंने अपने मंत्रियों को सचेत भी किया कि हर छह महीने पर विभाग के साथ-साथ उनके मंत्रियों की कार्य क्षमता की भी समीक्षा होगी। और अगर समीक्षा में वो पास नहीं हुए तो उनकी जगहदूसरे को मौका दिया जा सकता है। कुल मिलाकर योगी ने मंत्रियों के सिर पर कई सारी जिम्मेदारियां डाल दीं हैं जिनपर उन्हें खरा उतरना होगा वरना उनकी कुर्सी भी जा सकती है।

loading...
शेयर करें