पहली बार किसी मुस्लिम लड़की ने दिया योगी आदित्यनाथ का साथ

1

गोरखपुर। कुमारी शाहिना को खुद की बीबी बताने और अपने साथ हुए अन्याय के लिए भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को जिम्मेदार ठहराने वाले बिजनौर के युवक विपिन चौधरी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। विपिन जिसे अपनी पत्नी होने का दावा करते रहे हैं और शादी के दस्तावेज भी सोशल नेटवर्किंग साइट और यू-ट्यूब पर सार्वजनिक करते रहे हैं, वह युवती इस रिश्ते को सिरे से खारिज कर रही हैं।

कुमारी शाहिना का दावा है कि शादी के कागजात फर्जी हैं और विपिन चौधरी दूसरे लोगों को बदनाम कर रहे हैं। उन्होंने यहां तक कहा कि इस प्रकरण से योगी आदित्यनाथ का कोई लेना-देना भी नहीं है।

 योगी आदित्यनाथ

पूरी दुनिया डॉट काम के जरिए विपिन और कुमारी शाहिना के लड़ाई की बात सार्वजनिक होने और योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विपिन द्वारा चलाए जा रहे अभियान पर कुमारी शाहिना का कहना है कि उन्हें विपिन चौधरी और उनके लोगों द्वारा बदनाम किया जा रहा है। दोनों ने कानूनी तौर पर कोई शादी नहीं की थी और विपिन के दस्तावेज सही नहीं हैं।

वह विपिन के साथ कोई रिश्ता नहीं रखना चाहतीं लेकिन फिर भी वह उन्हें बदनाम कर रहा है। मामला कोर्ट में है लिहाजा दूसरे लोगों का नाम घसीटना और कुमारी शाहिना को सोशल मंचों पर बदनाम करना विपिन की कमजोरी को जाहिर करता है।

विपिन के दावे

बिजनौर के युवक विपिन चौधरी सोशल मंचों पर दावा करते रहे हैं कि उन्होंने मुस्लिम लड़की कुमारी शाहिना से शादी की थी। शरण देने के नाम पर भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ के एक कार्यकर्ता ने उनकी पत्नी का माइंडवाश किया। उनकी पत्नी का अपहरण कर लिया गया और जब वे सांसद के पास गए तो वहां से भी उन्हें भगा दिया गया।

विपिन का यह भी दावा रहा है कि कुमारी शाहिना के नाम से फेसबुक पेज सांसद के करीबी रहे कार्यकर्ता द्वारा चलाया जा रहा है। उनका कहना है कि यह अभियान वे हिन्दू समाज के लड़कों को जागरूक करने के लिए चला रहे हैं। ताकि उनके साथ ऐसी घटना न हो।

कुमारी शाहिना के तर्क

दूसरी तरफ कुमारी शाहिना ने पूरीदुनिया डॉटकाम से बातचीत में कहा कि शादी तो कभी हुई ही नहीं थी। विपिन चौधरी का सच जब उन्हें पता चला तो उन्होंने उससे दूरी बना ली। विपिन ने उनके मोबाइल नंबर कई लोगों में बांट दिये। फेसबुक पर पेज बनाकर वह उन्हें बदनाम करने लगा। इसके बाद मजबूरन उन्हें भी विपिन का सच सामने लाने के लिए फेसबुक पर आना पड़ा।

कुमारी शाहिना का आरोप है कि महंत योगी आदित्यनाथ से जुड़े एक अन्य कार्यकर्ता से विपिन को सपोर्ट मिल रहा है। उनका कहना है कि वे किसी को भी बदनाम नहीं करना चाहती हैं लेकिन विपिन चौधरी का एकतरफा अभियान लोगों को बदनाम करना है।

सोशल मीडिया पर अभियान

सोशल मीडिया फेसबुक पर विपिन कई ग्रुप्स में जुड़कर और कुछ ग्रुप्स बनाकर ‘घर वापसी का सच’ नाम से अभियान चला रहे हैं। वे अपने अभियानों के जरिए भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ और उनके एक करीबी रहे कार्यकर्ता पर टार्गेट करते हैं। इसके जवाब में कुमारी शाहिना अपने फेसबुक पेज ‘प्रमोद मल्ल और विपिन चौधरी की साजिश’ के जरिये प्रतिक्रिया कर रही हैं। उनका कहना है कि विपिन अपनी हरकतें बंद कर दें और लोगों को बदनाम न करें।

loading...
शेयर करें