पहले बजट पर योगी बोले, गरीबों और विकास को समर्पित है

0

लखनऊ। सीएम योगी ने अपनी सरकार के पहला बजट पर प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने बजट पेश होने के बाद कहा कि ये बजट गरीब, किसान, महिलाओं, बेरोजगारों को समर्पित है। योगी का पहला बजट विकास को समर्पित रहा।

योगी का पहला बजट

योगी का पहला बजट करेगा प्रदेश का विकास

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश का सर्वांगीण विकास हमारा लक्ष्य है। नई योजनाओं के लिए 55 हजार करोड़ से ज्यादा का बजट दिया गया है। कुछ नए शहरों में भी मेट्रो की व्यवस्था की जाएगी। शहरों को एक्सप्रेस-वे से जोड़ने के लिए भी प्रावधान किया है। मेक इन यूपी और सिंगल विंडो व्यवस्था का प्रावधान किया है।

पिछड़े क्षेत्रों का रखा गया ध्‍यान

सीएम योगी ने कहा​ कि बजट में पिछड़े क्षेत्रों के विकास को ध्यान में रखा गया है। प्रदेश से ढांचागत विकास को ध्यान में रखकर बजट बनाया गया है। उन्होंने कहा​ कि प्रदेश के विकास की दर बढ़ी है। हमने किसानों की ऋण माफी की बजट में ही व्यवस्था की है।

फिजूलखर्ची पर लगाई गई रोक

उन्होंने कहा कि शासनस्तर की फिजूलखर्ची पर हमने रोक लगाई है। फिजूलखर्ची में रोक लगाकर 36 हजार करोड़ की व्यवस्था कर रहे हैं। संकल्प पत्र के अनुसार पर वादों को एक-एक कर पूरा कर रहे हैं। प्रधानमंत्री सड़क योजना पर 3 हजार करोड़ दिए। पीएम आवास योजना ग्रामीण के लिए 4500 करोड़ दिए। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार के लिए 2900 करोड़ की व्यवस्था की गई है। वहीं स्वच्छ भारत मिशन के लिए 600 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

हर योजना की राशि में हुई बढ़ोत्‍तरी

अमृत योजना में 2000 करोड़, वृद्धा और किसान पेंशन के लिए 1885 करोड़, दिव्यांगों को 550 करोड़ की व्यवस्था की गई है। सीएम ने कहा कि पिछले बजट से हमने हर योजना में बजट बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का राजकोषीय घाटा 3.01 प्रतिशत से घटकर 2.57 प्रतिशत हुआ है। प्रदेश सरकार ने बजट में ऋण माफी की व्यवस्था की है। अयोध्या में रामायण,वाराणसी में बौद्ध मथुरा में कृष्ण सर्किट बनेगा। आखिर में सीएम योगी ने कहा कि वित्तमंत्री और उनकी टीम को बजट के लिए बधाई दूंगा। प्रदेश में प्रगतिशील और पारदर्शी व्यवस्था लागू करेंगे।

loading...
शेयर करें