योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक का हुआ ऐलान, कड़े और बड़े फैसले की उम्मीद

0

नई दिल्ली। प्रदेश के नए सीएम आदित्‍यनाथ योगी को सत्‍ता संभाले करीब 15 दिन हो चुके हैं। लेकिन अभी तक एक भी कैबिनेट बैठक नहीं हुई है। वहीं सभी लोग टकटकी लगाए बैठे हैं कि कब योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक होगी। ऐसी लोगों के लिए खुशखबरी है कि योगी कैबिनेट की पहली बैठक 4 अप्रैल को शाम 5 बजे होने का ऐलान कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने इस बात की पुष्टि की है।

योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक

योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में होंगे कई महत्‍वपूर्ण फैसले

ऐसा माना जा रहा है कि योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में तमाम महत्‍वपूर्ण फैसले लिए जा सकते हैं। ऐसी खबरें मिल रही हैं कि इस बैठक में किसानों के कर्ज को लेकर कोई घोषणा हो सकती है। किसानों के कर्ज को लेकर बीजेपी के संकल्‍प पत्र में  वादा किया गया था। इसके अलावा यूपी में बिजली चोरी को रोकने के लिए भी कुछ कड़े कदमों का ऐलान संभव है। वहीं कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर कैबिनेट मीटिंग में कुछ और सख्त फैसलों का ऐलान हो सकता है।

सीएम योगी ने लिए ताबड़तोड़ फैसले

यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने आते ही ताबड़तोड़ फैसले लेने शुरू कर दिए। इस कड़ी में अबतक योगी सरकार ने ये बड़े फैसले किए।

सीएम योगी ने अपने पहले आदेश में तमाम मंत्रियों को संपत्ति का ब्योरा देना को कहा. इतना ही नहीं अफसरों को भी संपत्ति का पूरा ब्योरा सीएम ऑफिस को देने को कहा गया है।

राज्य में अवैध बूचड़खानों पर नकेल कसी गई। इससे गौवध की रोकथाम होने की बात कही गई है।

महिलाओं को छेड़छाड़ से बचाने और उनकी सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो दल का गठन कर दिया गया।

राज्य में सरकारी विभागों में कामकाजी घंटों के दौरान पान-गुटखा खाने पर रोक लगाई और प्लास्टिक के इस्तेमाल पर भी रोक लगाई।

योगी ने अपने मंत्रियों को आदेश दिया कि कोई मंत्री अनाप-शनाप बयानबाजी नहीं करेगा। इसके लिए सरकार के 2प्रवक्ता नियुक्त किए गए हैं जो मीडिया तक सरकार की बात पहुंचाएंगे।

योगी सरकार ने यूपी के तमाम थानों, पुलिस चौकियों और पुलिस लाईन्य में साफ-सफाई करने का आदेश दिया है।

गोमती रिवर फ्रंट घोटाले की जांच के आदेश दिए हैं।

पूर्व यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खान के लिए इससे मुश्किलें पैदा हो सकती हैं।

loading...
शेयर करें