योगी सरकार के खिलाफ कानून व्यवस्था को ‘नया मुद्दा’ बनाएगी यूपी कांग्रेस

लखनऊ। लाॅकडाउन, कोरोना, प्रवासी श्रमिकों और डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और चीन मुद्दे पर केन्द्र सरकार को घेरने में जुटी यूपी कांग्रेस को कानून व्यवस्था के रूप में नया मुद्दा मिल गया है। बीते गुरुवार की रात 8 पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद कांग्रेस सहित पूरा विपक्ष योगी सरकार पर हमलावर है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरने के लिए शनिवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने तमाम पार्टी नेताओं के साथ वर्चुअल बैठक की।

बैठक में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ‘मोना’, राजीव शुक्ला, जितिन प्रसाद, बृजलाल खाबरी, प्रदीप जैन आदित्य, आरके चौधरी, इमरान मसूद, राजाराम पाल, दीपक सिंह, सहित तमाम प्रभारी राष्ट्रीय सचिव भी बैठक में शामिल हुए।

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस महासचिव ने यूपी के प्रमुख पार्टी नेताओं के साथ प्रदेश में बढ़ते अपराध और जंगलराज पर चर्चा की। साथ ही इस मुद्दे पर सरकार को घेरने के लिए रणनीति भी बनी।

बैठक में तय हुआ कि भाजपा सरकार में पनप रहे राजनेता-अपराधी गठजोड़ का भंडाफोड़ किया जाएगा। प्रदेश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था और जंगलराज के खिलाफ कांग्रेस अभियान चलाएगी। अपराधियों और संरक्षण देने वाले सत्ताधारी नेताओं को बेनकाब किया जाएगा। बैठक में कांग्रेस नेताओं ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सत्ता का खुला संरक्षण प्राप्त है। इसी के चलते गंभीर घटनाएं सामने आ रही हैं

Related Articles