फिल्म रिव्यू : हर किसी को पसंद नहीं आएगी ‘रंगून’, सैफ और शाहिद पर भारी पड़ी कंगना

0

फिल्म का नाम : रंगून

स्टार कास्ट : कंगना रनौत, शाहिद कपूर, सैफ अली खान, रिचर्ड मैकेबे

डायरेक्शन : विशाल भारद्वाज

रेटिंग : 2.5

'रंगून'

‘रंगून’ का फिल्म रिव्यू

मुंबई। फेमस राईटर शेक्सपीयर की नोवेल पर बेस्ट फिल्म ‘रंगून’ आज बॉक्स ऑफिस पर रिलीज़ हो गई है। विशाल भारद्वाज द्वारा निर्देशित ये फिल्म आजादी से पहले के भारत के समय में एक वॉर रोमांस की कहानी है। यह सेकेंड वर्ल्ड वॉर के समय शुरू हुए एक लव ट्राएंगल की कहानी है। विशाल इससे पहले शेक्सपीयर की नोवेल पर बेस्ट कई फिल्में बना चुके हैं। शिवरात्रि के मौके पर रिलीज़ ये फिल्म दर्शकों को पसंद आएगी या नहीं आइये समीक्षा करते हैं।

कहानी

फिल्म की कहानी 1943 पर बेस्ड है, जहां ब्रिटिशर्स का भारत पर शासन था और उसी दौरान मिस जूलिया (कंगना रनौत) बहुत ही फेमस अभिनेत्री हुआ करती थी। जूलिया अपनी जरूरतों के हिसाब से प्रोड्यूसर रुसी बिलिमोरिया (सैफ अली खान) के इशारों पर चलती थीं। ब्रिटिश सेना का मेजर जनरल हार्डिंग (रिचार्ज मैकेबे), रुसी से बात करके जूलिया को भारत-बर्मा की सीमा पर तैनात सैनिकों के मनोरंजन के लिए ले जाता है और ट्रेन में जूलिया की सुरक्षा की जिम्मेदारी जमादार नवाब मलिक (शाहिद कपूर) के हाथों में होती है, जिसे शुरुआत में जूलिया नापसंद करती हैं। लेकिन धीरे-धीरे ऐसी परिस्थितियां आती हैं कि दोनों के बीच में रोमांस पनपने लगता है। प्यार की तड़प, जलन और छल की इमोशनल कहानी तब शुरू होती है, जब रूसी को जूलिया और नवाब के अफेयर का पता चलता है। आखिर में फिल्म प्रेम और देशप्रेम के लिए बलिदान की दास्तां बनकर ख़त्म होती है। कहानी में कई सारे ट्विस्ट टर्न्स आते हैं जिसके लिए आपको सिनेमाघर जाना पड़ेगा।

डायरेक्शन

विशाल भारद्वाज की इस हाई बजट फिल्म का डायरेक्शन हमेशा की तरह काफी बेहतरीन है। रियल लोकेशन की शूटिंग भी काफी दर्शनीय है। युद्ध, प्रेम प्रसंग और लोकेशन्स सहित फिल्म में कई बेहतरीन चीजें देखने को मिलेगी। फिल्म में 40 के दशक के हिसाब से बारीकियों का ध्यान बखूबी रखा गया है। फिल्म की सिनेमाटोग्राफी कमाल की है। इसके अलावा कीचड़ में शाहिद और कंगना का लव मेकिंग सीन शायद किसी हिंदी मेनस्ट्रीम फिल्म में इतना बेहतरीन कभी नहीं दिखा। हालांकि फिल्म की स्पीड बहुत स्ले है जिसे तेज़ किया जा सकता था। अगर क्लाइमैक्स की बात करें तो ना ही जंग मुकम्मल दिखाई गई है और ना ही रोमांस, दोनों के बीच में खिचड़ी-सी पकती जान पड़ती है। इसपर और अच्छे से काम करने की जरूरत थी। फिल्म के डायलॉग्स काफी दमदार हैं। फिल्म में तीन बार नेशनल एंथम भी आएगा।

एक्टिंग

तीनों स्टार्स ने जबरदस्त एक्टिंग की है। नेशनल अवॉर्ड विनर कंगना रनौत और उनकी परफॉर्मेंस को देखना एक बार फिर से बहुत ही उम्दा है। वहीं, सैफ अली खान ने भी बढ़िया काम किया है। शाहिद कपूर और उनकी एक्टिंग ने एक बार फिर से साबित कर दिया है कि फिल्म दर फिल्म उनका काम और भी सहज हो रहा है। मेजर जनरल का किरदार निभाने वाले एक्टर रिचर्ड मैकेबे ने फिल्म में चार चांद लगाए हैं। फिल्म की कास्टिंग बिलकुल परफेक्ट है।

म्यूजिक

फिल्म के गाने पहले से ही हिट हैं। ब्लैडी हेल, मेरे मिंया गए इंग्लैंड और अलविदा जैसे गाने आुको सुनने में अच्छे लगेंगे। 

देखें या नहीं

ऑफबीट फिल्में पसंद हैं या फिर शाहिद कपूर, कंगना रनौत या सैफ अली खान के फैन हैं तो फिल्म देखने जा सकते हैं।   

loading...
शेयर करें