फिल्म रिव्यू : नवाजुद्दीन की एक्टिंग उस पर थ्रिलर और सस्पेंस का तड़का

0

फिल्म का नाम : रमन राघव 2.0

स्टार्स का नाम : नवाजुद्दीन सिद्दीकी, विकी कौशल और शोभिता धूलिपाला

निर्देशक : अनुराग कश्यप

स्टार : 2.5 

रमन राघव 2.0

रमन राघव 2.0 का फिल्म रिव्यू

‘उड़ता पंजाब’ के प्रोड्सर अनुराग कश्यप की बतौर निर्देशक ‘रमन राघव 2.0’ आज बॉक्स ऑफिस पर रिलीज़ हो गई है। उड़ता पंजाब पिछले शुक्रवार रिलीज़ हुई है और अब तक 50 करोड़ से भी ज्यादा का बिजनेस कर चुकी है। लेकिन बतौर निर्देशक अनुराग की आखिरी फिल्म ‘बॉम्बे वेलवेट’ थी जो सुपर फ्लॉप फिल्म थी इस बात को अनुराग खुद मानते हैं। बॉम्बे वेलवेट में रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा जैसे बड़े सितारे थे लेकिन इस फिल्म में ज्यादा बड़े स्टार्स नहीं है। देखते हैं क्या ये फिल्म अनुराग की नैय्या पार लगा पाती है या नहीं।

कहानी

यह फिल्म 1960 के दशक के साइकोपैथ सीरियल किलर रमन राघव पर आधारित है जिसने लगभग 41 लोगों का कत्ल किया था। कहानी को इस दौर में रचा गया है। रमन (नवाजुद्दीन) एक साइकोपैथ किलर हैं और वह मजे के लिए कत्ल करता है। वह पुलिस के पास जाकर नौ कत्लों की जिम्मेदारी लेता है लेकिन कोई उस पर यकीन नहीं करता है। पुलिस थाने में नवाज जो कत्ल करने का सीन खींचते हैं, वह वाकई यादगार है। वैसे भी जितने नेचुरल ढंग से नवाज ने रमन के किरदार को उकेरा है उतने ही नेचुरल ढंग से रमन लोगों का कत्ल करता है। फिल्म में एक पुलिस अधिकारी राघव (विकी कौशल) है जो नशे का शिकार है और एक लड़की सिमी (शोभिता धूलिपाला) के साथ रहता है। उधर, रमन कत्ल करने में लगा रहता है तो वहीं राघव उसे पकड़ने की कोशिश करता नजर आता है और पुलिस अधिकारी अपने नशे तथा गर्लफ्रेंड के साथ उलझता रहता है। आगे की कहानी जानने के लिए आपको थिएटर का रुख करना पड़ेगा।

डायरेक्शन

फिल्म का डायरेक्श अनुराग ने अपने स्टाइल में किया है। फिल्म कहीं- कहीं थोड़ी खिची सी लगती है जिसे काट छांट कर छोटा किया जा सकता था। फिल्म में पूरी तरह से डार्क शेड में कहानी को दर्शाया गया है। कहानी जरूरत से ज्यादा फैली हुई लगी।

एक्टिंग

पूरी फिल्म सिर्फ नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपने कंधों पर उठाई हुई थी। हमेशा की तरह नवाजुद्दीन ने अपना बेस्ट दिया है। विकी कौशल और शोभिता ने भी अच्छी ऐक्टिंग की है।

म्यूजिक

फिल्म का म्यूजिक राम सम्पत ने फिल्म के गांव को माहौल के हिसाब से करेक्ट रखा है। बैकग्राउंड स्कोर भी कहानी के साथ-साथ सटीक जाता है।

देखें या नहीं

अच्छी एक्टिंग के साथ सस्पेंस और थ्रिलर के शौकीन हैं तो जरूर देखें ये फिल्म।

 

loading...
शेयर करें