राज्‍यसभा चुनाव: सपा और बीजेपी नेताओं में भि‍ड़ंत, लगाया क्रॉस वोटिंग का आरोप

0

लखनऊ। यूपी की 11 सीटों पर 12 प्रत्याशी मैदान में है। सपा के 7, बसपा के 2, कांग्रेस का 1, बीजेपी का 1 और बीजेपी समर्थित निर्दलीय प्रीति माहापात्रा मैदान है। वहीं चुनाव की वोटिंग के दौरान ही क्रॉस वोटिंग को लेकर बवाल हो गया। बता दें कि वोट डालने के दौरान सपा के बागी वि‍धायक गुड्डू पंडि‍त और मुकेश शर्मा की सपा नेताओं से भि‍ड़ंत हो गई।

आरोप लगाया जा रहा है कि सपा नेता सुशील सिंह ने उनका वोट डाल दि‍या। यह भी कहा जा रहा है कि पवन पांडेय ने बैलेट छि‍नने की कोशि‍श की और जान से मारने की धमकी दी। इस दौरान माहौल भी बिगड़ गया।

राज्‍यसभा चुनाव

बता दें कि भाजपा विधायक संगीत सोम ने भी आरोप लगाया है कि भाजपा के वोटर्स ने सपा नेताओं ने बैलेट पेपर छीनने की कोशिश की है। वहीं बाजपा के नेताओं ने यह भी आरोप लगाया है कि उनको वोट डालने से रोका जा रहा है। पीस पार्टी के अध्यक्ष अयूब खान ने बताया है कि पीस पार्टी कांग्रेस को वोट दे रही है। जो भी विधायक लाइन से बाहर जाकर वोट डाल रहे है उन पर कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि एक सीट पर जीत के लिए 34 मतों की जरुरत होगी। सपा के पास 229 है जिससे उसकी 6 उम्मीदवारों की जीत सनिश्चित है। जबकि 7 वें प्रत्याशी के लिए उसे 9 वोटों की जरुरत पड़ेगी। सपा को आरएलडी का समर्थन प्राप्त है। इससे सपा की 7वीं सीट फंसती दिख रही है। कांग्रेस के 29 विधायक है और कांग्रेस उम्मीदवार कपिल सिब्बल को जीत के लिए 5 वोटों की जरुरत पड़ेगी। जिसमें उन्हें आरएलडी से समर्थन मिलेगा।

आरएलडी के 8 विधायक है। बसपा के पास 80 विधायक हैं और प्रथम वरीयता के 34-34 मतों के सहारे वह अपने दो प्रत्याशियों को आसानी से जिता सकती है। उसके 12 वोट बच भी जाएंगे। लेकिन बसपा बचे हुए वोटों से किसे समर्थन देगी यह पार्टी की ओर से घोषित नहीं किया गया है। बीजेपी के पास 41 विधायक है जिसमें उसका पहले उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित है लेकिन दूसरे समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार के लिए मुश्किल है।

loading...
शेयर करें