अपने पिता राज कपूर की इस चीज़ से रणधीर को बिलकुल लगाव नहीं

मुंबई| बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता, फिल्मकार दिवंगत राज कपूर के सबसे बड़े बेटे रणधीर कपूर को पाकिस्तान स्थित पिता के जन्मस्थान से किसी तरह का भावनात्मक लगाव नहीं है। उनका यह बयान पाकिस्तान के पेशावर स्थित 98 साल पुरानी चार मंजिला ‘कपूर हवेली’ को इसके मालिक द्वारा तोड़े जाने की खबर आने के बाद आया।

इसमें पाकिस्तान के पुरातत्व विभाग के अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि उन्होंने धाकी मुनव्वर शाह इलाके में स्थित इस हवेली को बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन वे सफल नहीं हो सके।

राजकपूर

राजकपूर की हवेली बहुत शानदार थी

इस रिपोर्ट के बाद जब रणधीर से इस बारे में प्रतिक्रिया पूछी गई, तो उन्होंने कहा, “मैंने उस जगह को कभी देखा ही नहीं। हम कभी वहां नहीं गए, इसलिए हम उस जगह से भावनात्मक रूप से कभी जुड़े ही नहीं। मुझे नहीं पता कि वह वास्तव में मेरे दादा जी (पृथ्वीराज कपूर) से संबंधित थी या नहीं, क्योंकि मेरे दादा जी भारत आने और फिल्मों से जुड़ने से पहले अमीर इंसान नहीं थे।”

उन्होंने कहा, “हमें तो यह भी नहीं पता कि उस संपत्ति का मालिकाना हक हमारे पास था या वह हमारी किराये की संपत्ति थी।”

वहीं, रणधीर के भाई और अभिनेता ऋषि कपूर ने ट्वीट कर कहा, “यह संपत्ति पाकिस्तान की सरकार की है और इससे संबंधित कोई भी निर्णय उनका ही होगा।”

पुरखों की हवेली में ही जन्‍मे थे राजकपूर के भाई-बहन

हवेली में 14 दिसंबर 1924 को राजकपूर पैदा हुए। 1947 में देश के दो टुकड़े हो गए। पेशावर भारत में नहीं रहा, ये खूबसूरत शहर अब नए बने मुल्क पाकिस्तान का शहर बन गया। राजकपूर का परिवार मुंबई में आकर बस गया। इस परिवार के लोगों ने लगातार फिल्मों में अपना नाम बनाए रखा। लेकिन पुरखों की और खासतौर पर राजकपूर की हवेली दूसरे देश में छूट गई।

राजकपूर के छोटे भाई शशि कपूर और बेटे रंधीर कपूर और ऋषि कपूर 1990 में पेशावर गए। उस वक्त पेशावर के पूर्व मेयर मरहूम सईद अहमद जान ने उनका जबर्दस्त स्वागत किया। खैबर-पख्तूनवा सरकार ने पेशावर के दो महान दो महान सितारे राजकपूर और दिलीप कुमार के मकानों को सांस्कृतिक विरासत की तरह संभालने का वादा भी किया। तमाम वादों के बावजूद राजकपूर की हवेली का ध्यान नहीं रखा गया। खबरों के अनुसार ध्यान ना दिए जाने के कारण हवेली के कई हिस्से टूट गए। जिसके बाद इसको गिराने का फैसला कर लिया गया। बताया जा रहा है कि इमारत के कुछ हिस्सा गिरा भी दिए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button