रामदेव की पतंजलि से जांच टीम ने लिये घी के सैंपल   

0

utt-patanjali-2

हरिद्वार। योगगुरु बाबा रामदेव के पतंजलि के उत्पादों पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। जिला खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने सोमवार को बाबा रामदेव की पतंजलि योगपीठ बहादराबाद से गाय के दूध से बने घी के अलग-अलग बैच के दो सैंपल भरे हैं। दोनों सैंपलों को सील कर जांच के लिए रुद्रपुर स्थित प्रयोगशाला भेजा गया है। विभागीय अधिकारियों ने इसे रूटीन जांच की कार्रवाई बताया है।

utt-patanjali-5

इससे पहले भी पतंजलि के सरसों के तेल, शहद, आरोग्य बेसन, काली मिर्च पाउडर समेत कुल 6 उत्पाद जांच में फेल हो चुके हैं। इसके संबंध में जिला खाद्य निरीक्षक ने कोर्ट में केस भी दर्ज कराया था। फिलहाल सभी मामले कोर्ट में विचाराधीन हैं। गौरतलब है कि विगत 27 नवंबर को खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने पतंजलि आटा नूडल्स के सैंपल भी लेकर जांच के लिए भेजे थे।

ये भी पढ़ें – बाबा रामदेव की बढ़ी मुश्किलें, आटा नूडल्स फैक्ट्री पर छापेमारी

utt-patanjali-7

फेज सेकेंड से लिए गए सैंपल

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से खाद्य सुरक्षा विभाग को पतंजलि से निर्मित घी की कई शिकायतें मिल रही थीं। जिसके बाद सोमवार दोपहर में जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी महिमानंद जोशी टीम के साथ बहादराबाद स्थित पतंजलि योगपीठ फेज सेकेंड में पहुंचे। इस फेज में गाय के दूध से देशी घी बनाया जाता है। महिमानंद जोशी ने बताया कि यहां से पतंजलि देशी घी के दो सैंपल लिए गए हैं। दोनों सैंपल अलग-अलग बैच के हैं। इन्हें सील कर जांच के लिए रुद्रपुर लैब भेजा गया है। और जांच रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

utt-patanjali-3

नूडल्स की भी नहीं आई रिपोर्ट

इससे पहले दिसंबर के दूसरे सप्ताह में सिडकुल स्थित फैक्ट्री से पतंजलि नूडल्स के भी दो सैंपल भरे गए थे। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि फिलहाल नूडल्स के सैंपल की रिपोर्ट नहीं आई है। इस बीच सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म है, लोगों का कहना है कि  पतंजलि के उत्पाद की सैंपलिंग राज्य सरकार के दबाव में करवाई जा रही है।

loading...
शेयर करें