मारा गया मथुरा हिंसा का मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव

0

लखनऊ। बीते दिनों मथुरा में हुई हिंसक वारदात का मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव को लेकर अभी तक लगाए जा रहे उन सभी कयासों पर विराम लग गया है जिसमें कहा जा रहा था कि रामवृक्ष को कहीं छुपा दिया है। उत्तर प्रदेश के डीजीपी जावीद अहमद ने शनिवार शाम को अपने ट्विटर अकाउंट पर जानकारी देते हुए इस बात की पुष्टि कर दी है कि रामवृक्ष यादव मारा जा चुका है।

ये भी पढ़ें : सोनिया के रिटायरमेंट और राहुल के अध्यक्ष बनने पर अंबिका ने दिया बड़ा बयान

रामवृक्ष यादव

रामवृक्ष यादव की मौत की हुई पुष्टि

जावीद अहमद ने इस बात की जानकारी देते देते हुए बताया कि मथुरा घटना में मिले कुछ शवों की शिनाख्त हो गई है। इन शवों में मामले के मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव का शव भी है। रामवृक्ष के परिजनों ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है।

 

ये था पूरा मामला

मथुरा स्थित जवाहर बाग खाली कराने पहुंची पुलिस और सत्याग्रहियों के बीच टकराव हो गया है। फायरिंग के बाद हुए बवाल में एक एसओ फरह संतोष कुमार और एसपी समेत 24 लोगों की मौत हो गई। 23 पुलिसकर्मी घायल हो गए। वहीं, 20 से ज्यादा कब्‍जाधारियों की भी मौत हो गई। वहीं, करीब 200 लोग घायल हुए हैं। हिंसा के लिए दोषी 124 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस जवाहर बाग में बागवानी विभाग की करीब 250 एकड़ जमीन पर अवैध कब्‍जे को हटाने पहुंची थी।

ये भी पढ़ें : नरेंद्र मोदी पहुंचे कतर, भारतीय मूल के कर्मचारियों के साथ खाया खाना

फायरिंग में एसपी और एसओ सिटी की मौत

जवाहर बाग में फोर्स के घुसने के बाद सत्याग्रहियों द्वारा उन पर हमला कर दिया गया। सत्याग्रहियों ने पुलिस और अफसरों को निशाना बनाते हुए फायरिंग शुरू कर दी, जिससे अफरा-तफरी मच गई। जब तक पुलिस व अफसर कुछ समझ पाते तब तक एडि‍शनल एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी, सिटी मजिस्ट्रेट रामअरज यादव, एसओ प्रदीप कुमार, एसओ संतोष कुमार यादव को गोली लग चुकी थी। जिसके कुछ देर एडि‍शनल एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और एसओ संतोष कुमार यादव की मौत हो गई ।

 

 

loading...
शेयर करें