राम नाईक बोले, बंद करें बिना अनुमोदन के कोर्स

लखनऊ। राम नाईक ने यूपी के सभी विश्वविद्यालयों को चेताया कि परिनियमों में बिना प्राविधान एवं अध्यादेशों के अनुमोदन के बगैर  नये पाठ्यक्रमों में प्रवेश न लिये जाये। यूपी के राज्‍यपाल राम नाईक ने यह भी कहा कि चांसलर एवार्ड के मापदण्ड तय करने के लिए कमेटी गठित करके निर्णय लिए जाएंगे। राज्‍यपाल राम नाईक  ने यह निर्णय कुलपतियों के सम्‍मेलन में लिए। सम्‍मेलन
वीर बहादुर सिंह पूर्वान्चल विश्वविद्यालय जौनपुर में किया गया था।

ram-naik-53c4c4e69db13_exl

राम नाईक का निर्णय, चांसलर एवार्ड के लिए बनेगी कमेटी

राम नाईक ने बैठक में यह भी निर्णय लिया कि बिना अनुमोदन प्राप्त चलाये जा रहे पाठ्यक्रम बंद कराये जाये जिससे भविष्य में छात्रों को परीक्षाओं से वंचित न होना पडे़। यूपी के राज्‍यपाल राम नाईक ने कहा कि विश्वविद्यालय इस बात पर गम्भीरता से ध्यान दें कि परिनियमों में बिना प्राविधान एवं अध्यादेशों के अनुमोदन के बगैर  नये पाठ्यक्रमों में प्रवेश न लिये जाये। उन्होंने कहा है कि चांसलर एवार्ड के मापदण्ड तय करने के लिये कमेटी गठित करके निर्णय लिये जायेगें।
कार्यपरिषद की रिकार्डिंग कराई जाए
श्री नाईक ने कहा कि कार्य परिषद की बैठक की विधिवत रिकार्डिंग कराई जाये, जिससे विरोधाभास की स्थिति न हो। राजभवन में इस प्रकार की शिकायतें प्राप्त हुई थी कि कार्य परिषद की बैठक में लिये गये निर्णय और कार्यवृत्त में एकरूपता नहीं है। महाविद्यालयों की सम्बद्धता के लिये ‘कामन प्रोग्राम’ तैयार करके आनलाइन सम्बद्धता प्रदान करने पर विचार किया जाये। अंकतालिका एवं डिग्री की पहचान के लिए ‘बार कोड’ का प्रयोग किया जाए।
कॉमन साफ्टवेयर एप्‍लीकेशन पर काम करें
बैठक में ई-गर्वेनेन्स पर चर्चा उपरान्त यह निर्णय लिया गया कि उच्च शिक्षा विभाग के नेतृत्व में काॅमन साफ्टवेयर एप्लीकेंशन पर कार्य किया जाय। सभी विश्वविद्यालय अपना-अपना डाटाबेस तैयार करने के लिये सरकारी एजेन्सी एनआईसी से सहयोग लें। सभी विश्वविद्यालय अपनी-अपनी वेबसाइट को दुरूस्त करके सही जानकारियों के साथ संचार माध्यमों के लिंक अनिवार्यता से प्रदर्शित करें तथा डेडलिंक्स को तत्काल हटाया जाय।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button