राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या में 1100 ब्राह्मण करेंगे यज्ञ

अयोध्या: बीते कुछ समय से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर काफी चर्चाएँ हो रही हैं. वहीँ अब राम मंदिर निर्माण को लेकर अयोध्या में संतों द्वारा एक यज्ञ होने जा रहा है. यह यज्ञ श्री राम की धरती पर श्री राम की जन्मभूमि को लेकर घेरी बाधाओं को दूर करने के लिए संतों के द्वारा कलयुग में अश्वमेध यज्ञ कराया जा रहा है.

वहीँ राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या में संतों ने भी कमर कस ली है, वे मंदिर निर्माण के लिए हर संभव प्रयास करने में जुटे हैं. यही कारण है कि सर्वोच्च न्यायालाय में सुनवाई के बाद भी अब सरकार पर मंदिर निर्माण के लिए क़ानून बनाने का दबाव बनाने में लगे हुए हैं. राम मंदिर निर्माण के लिए पिछले दिनों विराट धर्मसभा के आयोजन हुए और कई अनुष्ठान किये गए.

राम मंदिर निर्माण

इसी क्रम में राम मंदिर निर्माण के लिए दिसंबर की शुरुवात में ही राम मंदिर में आ रही बाधाओं से मुक्ति दिलाने के लिए अश्वमेध यज्ञ का शुभारंभ किया जा रहा है. इस यज्ञ को मुम्बई से अयोध्या पहुंचे संत स्वामी आनंद महाराज के द्वारा कराया जायेगा.

बता दें कि आगामी एक दिसंबर से चार दिसंबर तक करीब 1100 ब्राह्मणों द्वारा राम मंदिर निर्माण को लेकर मंत्रोचारण किया जाना है. यह पूरा आयोजन अयोध्या के हनुमान गुफा में किया जाना है. वहीँ इस यज्ञ के बारे में जानकारी देते हुए संत स्वामी आनंद महाराज के बताया कि भगवान राम की जन्मभूमि पर त्रेता के बाद आज तक किसी ने यज्ञ नहीं किया था.

उन्होनें कहा था कि त्रेता में भगवान् राम के रामराज्य कि स्थापना के लिए अश्वमेध यज्ञ किया था, लेकिन कलयुग में संतों के द्वारा होने वाले अश्वमेध यज्ञ में भारत में सनातन धर्म को माम्मने वाले भगवान् श्री राम के वंशज होने के बावजूद भी कुछ ऐसे सेक्युलर वादी राजनीतिक दल हैं, जो कि भगवान राम के मंदिर निर्माण में बाधा डाल रहे हैं.

Related Articles