राम मंदिर निर्माण के लिए 545 सांसदों से समर्थन मांगेगा वीएचपी

लखनऊ: वीएचपी के अंतर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने बुधवार को कहा कि हिन्दू समुदाय के लोगों को पूर्ण रूप से भरोसा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर निर्माण के पक्ष में आएगा.

0

लखनऊ: वीएचपी के अंतर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने बुधवार को कहा कि हिन्दू समुदाय के लोगों को पूर्ण रूप से भरोसा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर निर्माण के पक्ष में आएगा. एक अन्य सवाल में भी उन्होंने मेदिय से कहा कि पत्थर तराशने का काम पूरा हो चुका है.

चंपत राय ने मीडिया से बातचीत में कहा कि, “देश के लोगों को हिंदी समाज के लोगों की भावनाएं समझनी चाहिए.” राय ने आगे कहा कि पिछले 500 सालों से अयोध्या में राम मंदिर मानने की बातें चल रहीं हैं हिन्दू समाज इसी आस में बैठा है कि कब राम मंदिर का निर्माण होगा. अब और ज्यादा इंतज़ार नहीं होता.”

राम मंदिर

इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया की आगामी 25 नवंबर को अयोध्या में विहिप ‘धर्म सभा’ का आयोजन कर रही है. राय का दावा है कि इस कार्यक्रम में कम से कम एक लाख लोग तो हिस्सा लेंगे ही. उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य हिन्दुओं की भावनाओं को सरकार और अदालत तक पहुंचाना है.

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि वीएचपी ने लोकसभा-2019 चुनावों से पहले राम मंदिर का मुद्दा उछाले का बड़ा प्लान बनाया है.

गौरतलब हो कि वीएचपी आगामी महीनों में देश के तकरीबन 545 सांसदों से राम मंदिर निर्माण कार्य के लिए समर्थन मांगने की कवायद शुरू करने वाला है. वीएचपी चाहता है कि संसद के शीतकालीन सत्र में राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर केंद्र बिल लाये. उनका कहना है कि जो सांसद राम का विरोध करेगा उसको 2019 में देश की जनता के विरोध का सामना करना पड़ सकता है.

loading...
शेयर करें