राम माधव ने कहा- मुख्यमंत्री के पास भेजा जा रहा भाजपा मंत्रियों का इस्तीफा

जम्मू| कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले में जम्मू-कश्मीर की सत्तारूढ़ पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार ने आलोचनाओं का सामना कर रहे भाजपा मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। इस बात की जानकारी देते हुए भाजपा महासचिव राम माधव ने शनिवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर सरकार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है, और अब उसे मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के पास भेजा जा रहा है।

भाजपा विधायक दल की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद राज्य की शीतकालीन राजधानी जम्मू में एक प्रेस वार्ता के दौरान राम माधव ने यह जानकारी दी।

भाजपा के दो मंत्री चौधरी लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा ने शुक्रवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सत शर्मा को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। कठुआ जिले के हीरानगर इलाके में हिंदू एकता मंच की सभा में उपस्थित होने के लिए दोनों को व्यापक आलोचना और गुस्से का सामना करना पड़ा था। यह सभा कठुआ दुष्कर्म और हत्या मामले के आरोपियों के समर्थन में बुलाई गई थी।

राम माधव ने सहयोगी पीडीपी की ओर से बनाए गए दबाव के बाद भाजपा हाईकमान द्वारा दोनों मंत्रियों को इस्तीफा देने के लिए कहे जाने की बात को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि किसी दबाव का कोई सवाल ही नहीं है। ये दोनों मंत्री लोगों को वहां शांत कराने के लिए गए थे, लेकिन इनकी उपस्थिति को आरोपियों को बचाने के लिए समझ लिया गया। इन्होंने कभी भी आरोपियों का समर्थन नहीं किया।

राम माधव ने कहा कि हां, इसमें नासमझी है और इसलिए इन्होंने पीछे हटने का फैसला किया है। भाजपा महासचिव ने कहा कि इस फैसले से राज्य में सत्तारूढ़ दोनों पार्टियों के गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राज्य की अपराध शाखा ने जांच पूरी कर ली है और अदालत में आरोपपत्र दायर कर दिया गया है।

राम माधव कहा, भाजपा पीड़िता के लिए न्याय चाहती है और इसमें कई दो राय नहीं है। पार्टी के सैद्धांतिक रुख पर किसी तरह का कोई असमंजस नहीं है। उन्होंने कहा कि अब अदालत को फैसला करना है।”

Related Articles