रालोद का आरोप- भाजपा दे रही धार्मिक रीति-रिवाजों में दखल

0

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर चुनावों के दौरान धार्मिक सौहार्द बिगाड़ने का आरोप लगाया है। रालोद के प्रदेश प्रवक्ता सुरेंद्रनाथ त्रिवेदी ने भाजपा के नेताओं द्वारा दिए जाने वाले बयानों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि विभिन्न धर्मो, संप्रदायों और रीति रिवाजों वाले गुलदस्ते जैसी भावना को ये लोग ठेस पहुंचा रहे हैं। यह देश सभी धर्मो का आदर करने वाला है। हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई आपस में सब भाई भाई हमारा नारा रहा है।

रालोद

रालोद ने कहा- भाजपा की वजह से मंडराने लगे हैं धर्म निरपेक्ष संविधान पर खतरे के बादल

रालोद ने कहा कि भाजपा नेता योगी आदित्यनाथ और साक्षी महाराज अन्य धर्मो के रीति-रिवाजों में दखलंदाजी करने की भावना का प्रदर्शन कर रहे हैं। इसकी वजह से देश के धर्म निरपेक्ष संविधान पर खतरे के बादल मंडराते हुए प्रतीत हो रहे हैं।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि विश्व में भारत की लोकतांत्रिक सत्ता का डंका बजता रहा है और हमारा संविधान विश्व के अन्य देशों के लिए अनुकरणीय है। अन्य धर्मो को मानने वालों की भावनाओं पर चोट करना अलगाववाद की ओर ले जाता है जो कि विद्रोही भावना का परिचायक है तथा सामाजिक ढांचे को तहस नहस करने वाला प्रतीत होता है। भाजपाई लोग वोट मांगने के लिए श्मशान और कब्रिस्तान तक पहुंच जाएंगे। ऐसा उत्तर प्रदेश की जनता ने सोचा भी न था।

प्रधानमंत्री पर आरोप लगाते हुए रालोद प्रवक्ता ने कहा कि मोदी जी अपने दूतों के माध्यम से कलुषित भावनाएं फैलाने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है और प्रदेश की समाजवादी सरकार भी ऐसे दूतों पर कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। क्योंकि वोटों के ध्रुवीकरण की भावना से दोनों ही पार्टियां मिली हुई हैं। लेकिन प्रदेश की जनता ऐसे समाज विरोधी तत्वों से दूर होती जा रही है और चौधरी चरण सिंह के सपनों का प्रदेश बनाने की ओर बढ़ रही है और 11 मार्च को आने वाले चुनाव के नतीजों में इस पर मोहर लग जाएगी।

loading...
शेयर करें