251 रुपये में फोन देने वाली कंपनी रिंगिंग बेल का डायरेक्टर पुलिस हिरासत में

0

नई दिल्‍ली। 251 रुपये में मोबाइल फोन देने वाली कंपनी रिंगिंग बेल के डायरेक्‍टर मोहित गोयल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि मोहित गोयल पर एक फर्म ने डिलिवरी को लेकर 16 लाख की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है।

रिंगिंग बेल के डायरेक्टर मोहित गोयल

रिंगिंग बेल के डायरेक्‍टर मोहित गोयल पर दर्ज हुई एफआईआर

251 रुपये के कारण चर्चा में आई रिंगिंग बेल्स के डायरेक्टर मोहित गोयल की मुश्किलें अब और बढ़ सकती हैं।  पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोपों के बाद मोहित के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। डिप्टी एसपी मनीष मिश्रा ने बताया कि मामले की जांच के लिए मोहित गोयल को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

14 लाख रुपये का ही दिया गया सामान

डीलर ने पुलिस को शिकायत करते हुए बताया कि गाजियाबाद की फर्म अयाम इंटरप्राइजेज ने नवंबर, 2015 में फ्रीडम 251 के डिस्ट्रीब्यूशन के लिए उन्हें अप्रोच किया था। डीलर की मानें तो उन्होंने कई बार आरटीजीएस के जरिए रिंगिंग बेल्स को 30 लाख रुपये दिए थे। इसके एवज में कंपनी की ओर से उन्हें सिर्फ 14 लाख का ही सामान दिया गया।

बकाया रकम मांगने पर मिल रही है धमकी

शिकायत करने वाले ने कहा कि बकाया 16 लाख रुपये मांगने पर उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। नोएडा की कंपनी रिगिंग बेल्स तब सुर्खियों में आई थी, जब उसकी ओर से फरवरी, 2016 में वेबसाइट पर सिर्फ 251 रुपये में मोबाइल बुक कराए जा रहे थे। कंपनी ने इसे दुनिया का सबसे सस्ता मोबाइल फोन बताया था।

रिगिंग बेल्स पहले भी घिर चुकी है विवादों में

इस स्कीम को भारत सरकार के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम से जोड़ते हुए कंपनी ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं। रिगिंग बेल्स पहली बार विवादों में नहीं घिरी है। नवंबर में भी कंपनी ने 251 रुपये वाले 2 लाख फोन की डिलीवरी देने का दावा किया था। कंपनी अब तक 7 करोड़ फ्रीडम मोबाइल बुक होने का दावा कर रही है। आंकड़ों की मानें तो अभी तक सिर्फ 70 हजार मोबाइल्स की ही डिलीवरी हो पाई है।

loading...
शेयर करें