रिटायर दारोगा के बेटे से हुई ठगी, एक झटके में गवाएं छह लाख रुपये

प्रयागराज: एक झटके में 50 लाख रुपये और 40 हजार रुपये मासिक किराया पाने के चक्कर में रिटायर हो चुके दारोगा के बेटे ने छह लाख रुपये गंवा दिए। घर में टॉवर लगाने पर पैसे देने का झांसा देकर ठग गिरोह ने उसे जाल में फंसाया था। उसने बाइक बेचने के साथ ही कर्ज लेकर गिरोह के बैैंक खाते में पैसे जमा किए थे। धूमनगंज थाना पुलिस रिपोर्ट लिखकर ठगों की तलाश में जुटी है।

हरवारा निवासी प्रहलाद भारती पुलिस विभाग में दारोगा पद से रिटायर हुए हैैं। उनका पुत्र अंशु भारती प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है। उसे पिछले महीने तमिलनाडु की कोयम्बटूर की एक कथित हाई टेक टावर कंपनी ने फोन पर संपर्क किया और कहा कि वह अपने घर पर मोबाइल टॉवर लगा ले तो 50 हजार रुपये एकमुश्त के अलावा 40 हजार रुपये मासिक किराया भी दिया जाएगा। ठगों के बहकावे में आकर अंशु ने हामी भरी तो बैैंक खाते का ब्यौरा लेकर उसे बताया गया कि 50 लाख का चेक खाते में लगा दिया गया है।

प्रोसेसिंग फीस जमा करने पर ही चेक क्लियर होगी। उसे जाल में फंसाकर गिरोह ने 35 हजार से शुरू करने के बाद 90 हजार, 80 हजार, 1.40 लाख, 1.80 लाख कुल मिलाकर छह लाख रुपये अपने खाते में जमा करा लिए। अंशु ने 50 लाख के चक्कर में अपनी बाइक बेच डाली, दूसरों से रकम उधार लेकर गिरोह के खाते में पैसे जमा किए। तब भी चेक क्लियर नहीं होने पर उसे शक हुआ। उसने धूमनगंज थाने में शिकायत की। पुलिस को गिरोह के तीन मोबाइल नंबर भी दिए। पुलिस के संपर्क करने पर कथित कंपनी के लोगों ने गुमराह करने की कोशिश की। पुलिस सर्विलांस के जरिए गिरोह की घेराबंदी करेगी।

Related Articles

Back to top button