उत्तराखंड में भी बीजेपी को मजबूत करेंगी रीता बहुगुणा जोशी

0

देहरादून। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। यूपी की दिग्गज नेता रीता बहुगुणा जोशी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं हैं। रीता बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में बीजेपी ज्वाइन की। अब ऐसा माना जा रहा है कि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में भी इनकी भूमिका हो सकती है।

रीता बहुगुणा जोशी

उत्तराखंड में है रीता बहुगुणा जोशी का मायका और ससुराल

यूपी कांग्रेस कमेटी की पूर्व अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव में अहम् भूमिका निभा सकती हैं। वहीं उनका मायका और ससुराल यहीं हैं।

बीजेपी को होगा फायदा

पार्टी में कुछ लोगों का मानना है कि रीता के बीजेपी में आने का फायदा उत्तराखंड में भी होगा। रीता बहुगुणा के भाजपा में शामिल होने की संभावना तो उसी वक्त से व्यक्त की जा रही थी, जब विजय बहुगुणा ने कांग्रेस छोड़ी थी।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नंदन बहुगुणा की पुत्री रीता बहुगुणा जोशी लंबे अर्से से राजनीति में सक्रिय हैं। वैसे तो अब तक उनका राजनीतिक दखल यूपी की राजनीति में रहा है। विजय बहुगुणा के उत्तराखंड का मुख्यमंत्री बनने के बाद भी उन्होंने उत्तराखंड में सक्रिय होने की कोशिश नहीं की थी।

महिला कांग्रेस अध्यक्ष रह चुकी रीता बहुगुणा को उत्तर प्रदेश कांग्रेस में कुछ महीने पहले हुए फेरबदल में कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं दी गई। वहीं उनके रहते हुए पार्टी ने यूपी में शीला को चुनाव का चेहरा घोषित किया।

जिसके बाद से उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं। रीता बहुगुणा जोशी ब्राह्मण समुदाय से हैं और पार्टी के ब्राह्मण चेहरों में सबसे आगे हैं। उनके पार्टी छोड़ने के बाद यूपी विधान सभा चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए ये तगड़ा झटका होगा। क्योंकि कांग्रेस ने इस बार ब्राह्मण वोट पर अपनी नज़रें टिका रखी हैं। जानकारों की मानें तो रीता बहुगुणा जोशी के यूपी विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पार्टी बदलने की दो वजह हो सकती हैं।

 

loading...
शेयर करें