IPL
IPL

रुड़की में मदरसे के छात्र नहीं कर सकेंगे सोशल मीडिया का प्रयोग

रुड़की। सप्ताह भर पहले रुड़की से आतंकी साजिश में चार युवकों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां काफी सक्रिय हो गयी हैं। सुरक्षा कारणों के चलते ही क्षेत्र के इम्दादुल इस्लाम मदरसे में मोबाइल और सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों के उपयोग पर पूरी तरह बैन लगा दिया गया है।

 
ये भी पढ़ें – ISIS के चार आतंकी गिरफ्तार, अर्द्धकुंभ हमले की थी साजिश

रुड़की 1

रुड़की से ही पकड़े गए थे चारों संदिग्ध 

रुड़की स्थित इम्दादुल इस्लाम मदरसे के नाजिम नवाब अली ने मदरसे में पढ़ने वाले सभी छात्रों को सख्त हिदायत दी है कि वह मोबाइल का उपयोग बिल्कुल भी न करें। उन्होंने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों के प्रयोग पर भी रोक लगा दी है। उनका कहना है कि आतंकवादी संगठन इनके जरिए युवाओं को अपने जाल में फंसा रहे हैं। इसलिए इनका उपयोग न करना ही ज्यादा बेहतर है। मोबाइल, सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट के साथ मदरसे के नाजिम साहब ने इंटरनेट को भी बंद करने की दलील दी है। मदरसा इमदादुल इस्लाम क्षेत्र का सबसे बड़ा मुस्लिम इदारा है। यहां करीब 1000 बच्चे दिनी तालीम हासिल कर रहे हैं। इसके अलावा मदरसे में प्राथमिक शिक्षा भी दी जाती है।

ये भी पढ़ें – आतंकियों का अगला टार्गेट हो सकता है दिल्ली एयरबेस, अलर्ट जारी

रुड़की 3

कॉलेजों और मदरसों से लिया जा रहा संदिग्धों का रिकॉर्ड

इस बीच, आतंकी साजिश के शक में आईबी द्वारा गिरफ्तार किए गए चारों युवकों में इकलाखुर्रहमान (इकलाख) सालियर गांव के एक पॉलीटेक्निक इंस्टीट्यूट और मेहराज हरिद्वार के ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज का छात्र है। जबकि अजीम और ओसामा कस्बे के ही एक डिग्री कॉलेज में बीए के छात्र हैं। खुफिया विभाग चारों छात्रों के कॉलेज का रिकॉर्ड भी खंगाल रहा है। साथ ही उनके दोस्तों और परिचितों के बारे में भी जानकारी ली जा रही है। पकड़े गए युवकों पर सोशल मीडिया के जरिये विदेशी आकाओं से जुड़ने का भी आरोप है।

दीनी तालीम मदरसे के छात्रों की सूची तलब

इसके साथ ही पुलिस की जांच अब मदरसों पर भी टिक गई है। पुलिस ने नगर के सबसे बड़े दीनी तालीम मदरसे की जांच पड़ताल कर छात्रों की सूची तलब की। इसके साथ ही पुलिस की नजर अब मंगलौर के मदरसों पर भी है। आईएस के आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश होने के बाद पुलिस ने अपनी गतिविधियां काफी तेज कर दी हैं। पुलिस ने छात्रों और मदरसों में पढ़ाने वालों का सत्यापन अभियान भी शुरू कर दिया है। नगर पुलिस ने मोहल्ला किला स्थित सबसे बड़े मदरसे में जांच पड़ताल की। इस मदरसे में काफी बाहरी छात्र भी पढ़ाई करते हैं। नगर पुलिस के अधिकारियों ने मदरसा प्रबंधन से सभी छात्रों की सूची मांगी है। सूची के आधार पर छात्रों के सत्यापन का काम किया जाएगा। उन्होंने मदरसा प्रबंधन को कई सख्त दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button