Film Review : रॉकी हैंडसम में जॉन के एक्शन के सिवा और कुछ नहीं

0

फिल्म का नाम: रॉकी हैंडसम
डायरेक्टर: निशिकांत कामत
स्टार कास्ट: जॉन अब्राहम, श्रुति हासन, नतालिया कौर, दिया छलवाड़, निशिकांत कामत
रेटिंग: 2 स्टार

रॉकी हैंडसम

रॉकी हैंडसम का फिल्म रिव्यू

लंबे अर्से बाद जॉन अब्राहम की फिल्म ‘रॉकी हैंडसम’ आज बॉक्स ऑफिस पर रिलीज़ हुई है। निशिकांत कामत और जॉन पहले भी ‘फोर्स’ में साथ काम कर चुके हैं। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया था। निशिकांत कामत हिंदी और मराठी फिल्मों के बेहतरीन डायरेक्टर्स में से एक हैं। उन्होंने ‘मुंबई मेरी जान’, ‘लय भारी’ और ‘दृश्यम’ जैसी कुछ बेहतरीन फिल्में बनाई हैं। निशिकांत एक बार फिर जॉन के साथ ‘रॉकी हैंडसम’ के जरिए सिल्वर स्क्रिन पर जादू चलाने को कोशिश में हैं। देखते हैं उनकी ये कोशिश सफल होती है या नहीं। खास बात यह कि डायरेक्टर साहब ने इस फिल्म में एक्टिंग भी की है।

कहानी
फिल्म की कहानी का अंदाज़ा उसके ट्रेलर को देखकर लगाया जा सकता है कि रॉकी हैंडसम एक एक थ्रिलर है। फिल्म की कहानी दो लोगों के इर्द-गिर्द घूमती है एक कबीर अहलावत (जॉन अब्राहम) और दूसरी छोटी बच्ची नाओमी (दीया चलवाड)। नाओमी प्यार से कबीर को ‘रॉकी हैंडसम’ बुलाती है। फिल्म में कबीर अपनी पिछली जिंदगी को भूलकर आगे बढ़ता है और गोवा में रहता है। यहीं उसके पड़ोस में छोटी बच्ची नाओमी भी रहती है। अलग-अलग घटनाओं के बीच में नाओमी का अपहरण हो जाता है और इस तरह फिल्म की कहानी बढ़ते हुए गैंगवार, तस्करी और कई सारे उतार चढ़ाव लेकर आती है। फिल्म में काफी ट्विस्ट और टर्न्स हैं।

डायरेक्शन
निशिकांत कामत ने फिल्म का डायरेक्शन एकदम हॉलीवुड स्टाइल में करने की कोशिश की है। कैमरा एंगल और सिनेमेटोग्राफी के साथ-साथ एक्शन सीक्वेंस ठीक ठाक हैं, लेकिन कमजोर कहानी होने की वजह से सब कुछ फीका नजर आता है। फिल्म की स्क्रिप्ट 80 और 90 के दशक की टिपिकल थ्रिलर फिल्मों से काफी मिलती जुलती है। 21वीं सदी में इतनी कमजोर स्क्रिप्ट आपको एक वक्त के बाद बोर करने लगती है। फिल्म में विलेन का किरदार भी काफी घिसा-पिटा सा दिखाई पड़ता है और एक वक्त के बाद आपको उस पर हंसी भी आने लगती है।

एक्टिंग
फिल्म में श्रुति हासन का काफी छोटा लेकिन अहम रोल है जिसे उन्होंने बखूबी निभाया है। छोटी बच्ची दिया ने अच्छी एक्टिंग है वहीं ताबड़तोड़ एक्टिंग और एक्शन किया है जो फिल्म की जान है। निगेटिव रोल में डायरेक्टर निशिकांत कामत ने खुद भी ठीक काम किया है जो और अच्छा हो सकता था।

म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक रिलीज से पहले ही चार्टबीट्स में जगह बना चुका है। श्रेया घोषाल का गाया हुआ ‘रहनुमा’ रिलीज से पहले ही हिट है। साथ ही, अंकित तिवारी का ‘अल्फाजों की तरह’ और बॉम्बे रॉकर्स का गाना ‘रॉक द पार्टी’ भी अच्छा है।

देखें या नहीं
होली के मौके पर अगर आप बाहर जाकर फैमिली के साथ कुछ वक्त बिताना चाहते हैं तो फिल्म देख सकते हैं। बाकी जॉन के एक्शन के दीवाने हैं तो भी जा सकते हैं।

loading...
शेयर करें