फोर्ब्स की लिस्ट में शामिल हुए 17 साल के इस भारतीय लड़के ने रचा इतिहास

0

नई दिल्ली। महज 17 साल की उम्र मे रोहन सूरी ने हेल्थ केयर कंपनी ‘अवेरिया हेल्थ सोल्यूशन्स’ खड़ी कर मिसाल पेश की है। यही नहीं, इस काम के लिए रोहन सूरी का नाम फोर्ब्स की 30 अंडर 30, 2017 की सूची में शामिल किया गया है। अपनी बेहतरीन सोच और कड़ी मेहनत की वजह से 17 साल की उम्र में इतना बड़ा मुकाम हासिल कर रोहन ने यह साबित कर दिया कि सफलता का उम्र से कोई वास्ता नही होता।

रोहन सूरी

रोहन सूरी ने कम उम्र में किया कमाल

रोहन के इस कारनामे ने यह साबित कर दिया कि सफलता की रह उम्र कभी बाधा नहीं बनती। आत्मविश्वास और हुनर से सफलता किसी भी उम्र में मिल सकती है। रोहन सूरी को हेल्थकेयर सेक्टर में उनके योगदान के लिए फोर्ब्स की 30 अंडर 30, 2017 सूची में शामिल किया गया है।

रोहन ने केट्रेस नाम का एक ऐसा ऐप बनाया है, जिसमें ब्लूटूथ के माध्यम से इंफेक्शन्स का पता लगाया जा सकता है। इस ऐप के जरिए यह पता लगाया जा सकता है कि आप किसके संपर्क में आए हैं और कितने लंबे समय तक उस व्यक्ति के संपर्क में रहे।

इस ऐप का इस्तेमाल करने वाला अगर किसी तरह से संक्रमित होता है तो ये ऐप उसके साथ के लोगों को नोटिफिकेशन भेजकर सूचित कर देगा। इस तरह समय रहते ही किसी बड़ी बीमारी को मात दी जा सकती है। रोहन बताते हैं कि जब साल 2014 में जब पूरी दुनिया इबोला नमक वाइरस से परेशान थी तब इन्होने इस तरह का ऐप बनाने के लिए सोचा था।

रोहन को टेक्नोलॉजी से है लगाव

बड़ी बात यह है कि रोहन ने कह नए ऐप बनाने के लिए या शोध करने के लिए वह किसी बड़े लैब का इस्तेमाल नहीं करते, बल्क‍ि ऐसा अजब ग़जब कारनामा वह सिर्फ एक कंप्यूटर और स्मार्टफोन की मदद से करते हैं।

ब्लुटूथ में बहुत कम बैटरी खर्च होती है इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए रोहन ने इस ऐप को ब्लुटूथ से कनेक्ट किया है।

loading...
शेयर करें