लखनऊ के होटल मोमेंटम में सोफे पर प्रेमिका और पंखे से झूलती प्रेमी की शव मिलने पर मचा हड़कंप…

लखनऊ में एक होटल के कमरे में प्रेमी ने पहले प्रेमिका को चाउमीन खिलाई. फिर कांटे और चम्मच से गर्दन और हाथ पर दर्जनों वार कर मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद खुद पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली. मौके पर पहुंची पुलिस शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर आगे की कार्रवाई कर रही है.

असल में, लखनऊ के कृष्णानगर थाना के अंतर्गत आने वाले होटल मोमेंटम के कमरा नंबर 310 में गुरुवार को युवक-युवती का शव मिलने से हड़कंप मच गया. मौके पर पहुंचे कृष्णानगर एसीपी दीपक कुमार के मुताबिक 22 साल के राहुल चौधरी और 18 वर्षीय नैंसी वर्मा में प्रेम संबंध था. लेकिन नैंसी की मां को राहुल पसंद नहीं था. मां नैंसी को राहुल से मिलने से भी मना करती थी.

एसीपी दीपक कुमार ने बताया कि दूसरी ओर राहुल नैंसी पर बहुत शक करता था. इसकी वजह से खूब लड़ाई होती थी. घटना वाले दिन राहुल ने फोन करके नैंसी को आखिरी बार मिलने के लिए बुलाया. इसकी जानकारी नैंसी की मां को भी थी. नैंसी ने अपनी मां से आखिरी बार मिलने को कह कर राहुल से मिलने गई.

राहुल चौधरी अपनी कार से नैंसी को लेने पहुंचा था. इस दौरान नैंसी की मां को किसी अप्रिय घटना का शक होने पर राहुल की कार का पीछा अपनी स्कूटी से भी किया. लेकिन नैंसी और राहुल कार से होने के कारण दूर निकल गए. इसके बाद राहुल नैंसी को लेकर कृष्णागर के होटल मोमेंटम के रूम नंबर 310 में पहुंचा

राहुल पहले से ही इस होटल में आता-जाता था. होटल मैनेजर राजेश के मुताबिक राहुल के ड्राइविंग लाइसेंस और युवती के आधार कार्ड को देखकर उन्हें कमरा दे दिया गया. पुलिस के अनुसार राहुल के इरादे ठीक नहीं थे. इस वजह से पहले ही राहुल ने अपनी मां को फोन करके बता दिया था कि वो लौटकर नहीं आएगा. वह बाजार से रस्सी खरीद कर भी अपने साथ ले गया था.

होटल मैनेजर के मुताबिक राहुल ने कमरे में खाने के लिए चाउमीन, फ्राइड राइस और नॉनवेज ऑर्डर किया था. इसके बाद रूम के बाहर डू नॉट डिस्टर्ब का बोर्ड भी लगा दिया था. दोनों ने इस दौरान फोन स्विच ऑफ कर दिया.

एसीपी दीपक कुमार ने बताया कि खाना खाने के बाद दोनों का किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. इस दौरान नैंसी सोफे पर बैठी हुई थी. राहुल ने नैंसी को बेल्ट से जमकर पीटा. चाउमीन खाने वाले कांटे के चम्मच से नैंसी की गर्दन, हाथ पर दर्जनों वार किए और फिर दुपट्टे से गला दबा कर उसे मौत के घाट उतार दिया. नैंसी की हत्या के बाद राहुल ने साथ लाई रस्सी से खुद को पंखे से लटकर आत्महत्या कर ली.

अगले दिन जब दोनों ने चेक आउट नहीं किया तो होटल स्टाफ ने शक होने पर दरवाजा खटखटाया. दरवाजा नहीं खुला तो स्टाफ ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने होटल का दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुई तो सोफे पर नैंसी मृत मिली और पंखे से लटकता हुआ राहुल. पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.

पुलिस पर लापरवाही का आरोप

वहीं नैंसी के परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है. परिजनों का कहना है कि जब नैंसी का फोन स्विच ऑफ हुआ तो उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी और राहुल के खिलाफ सरोजनीनगर थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया. लेकिन पुलिस ने फौरन एक्शन नहीं लिया. अगर पुलिस समय से कदम उठाती तो यह हादसा नहीं होता. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Related Articles