लखनऊ में बुना धमाकों का ताना बाना पुलिस को भनक नहीं

0

लखनऊ। पठानकोट में हुए आतंकी हमले के घाव को लोग भी नहीं पाये थे कि आगामी 26 जनवरी को यूपी में तबाही मचाने की नियत से आतंकियों ने लखनऊ में ताना-बाना बुना। लेकिन राजधानी पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग सकी। हालांकि आतंकियों की साजिश को खुफिया एजेंसियों ने नाकाम कर दिया। लखनऊ में पकड़े गए संदिग्ध आतंकी के पिता की नाई की दुकान है। वहीं, पकड़े गए अलीम की मां बेटे के पकड़े जाने पर फफक कर रो पड़ी कहा मेरा बेटा आतंकी नहीं है उसे गलत फंसाया जा रहा है।

लखनऊ

आईएसआई के आतंकियों के दो सदस्यों में लखनऊ के इंदिरानगर से यूपी एटीएस ने अलीम अहमद को जबकि कुशीनगर से रिजवान अहमद को गिरफ्तार किया। इसके विरोध में लखनऊ में स्थानीय निवासियों ने संदिग्ध आतंकी के पिता की दुकान में तोडफ़ोड़ करके उसे ध्वस्त कर दिया। स्थानीय निवासियों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घंटों की मशक्कत के बाद स्थिति को काबू में किया। क्षेत्राधिकारी गाजीपुर दिनेश पुरी ने बताया प्रदर्शन को समाप्त करा दिया गया और मामले की जांच की जा रही है।
बताते चलें कि हरिद्वार के अर्धकुम्भ मेले में बम धमाका कर तबाही मचाने और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर बड़े धमाके करके आतंक फैलाने की साजिश रचने वाले लखनऊ इंदिरानगर के बसंत बिहार कालोनी में रहने वाले अलीम अहमद और कुशीनगर के रिजवान अहमद को गिरफ्तार किया है। इन आतंकियों से खुफिया एजेंसी आईबी, सैन्य गुप्तचर एजेंसियों और एनआईए की पूछताछ में खुलासा हुआ है कि हरिद्वार के अर्धकुंभ मेले में कई बम धमाके करने थे। इसके लिए अलीम और रिजवान ने हाल ही में रुड़की से गिरफ्तार अखलाक को पचास हजार रुपए दिए थे, ताकि बम धमाकों का इंतजाम किया जा सके। अखलाक के साथ मेराज, अजीम व ओसामा को भी गिरफ्तार किया गया था।

लखनऊ ही बना था अड्डा

यूपी में तबाही मचाने के लिए आतंकियों ने लखनऊ के इंदिरानगर इलाके में साजिश रच डाली और राजधानी की हाईटेक पुलिस को भनक तक नहीं लगी। आईबी व एटीएस को सूचना मिली थी कि आईएस के कुछ आतंकी लखनऊ में मौजूद हैं। धरपकड़ के लिए छेड़े गए खुफिया अभियान से पता चला कि आईएस के 8 आतंकियों ने लखनऊ में संदिग्ध अलीम के घर इंदिरानगर में बसंत बिहार स्थित घर के करीब गुपचुप बैठक की थी। तय हुआ था कि हरिद्वार में बम विस्फोट कर बड़े पैमाने पर तबाही मचाई जाएगी। इसके लिए बाकायदा विस्फोटक व अन्य सामग्री जुटा ली गई थी। सर्विलांस के बाद यूपी एटीएस को सुराग मिले और इंदिरानगर के बसंत बिहार इलाके में छापे मारी की गई। संदिग्ध अलीम को लखनऊ और रिजवान को कुशीनगर से दबोचा गया।

 

loading...
शेयर करें