लालू ने राजद विधायकों पर कसी लगाम, कहा- सीधे मीडिया में जाने की जरूरत नहीं

0

पटना| बिहार में सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने मंगलवार को अपने विधायकों को नसीहत दी कि किसी भी समस्या को लेकर वे सीधे मीडिया में न जाएं, बल्कि उसने बताएं कि समस्या क्या है। उन्होंने अपने विधायकों से अपील करते हुए कहा कि पार्टी के किसी विधायक को अगर किसी बात को लेकर कोई नाराजगी है तो वे मुझसे सीधे बात करें। नाराज विधायक मीडिया में जाने से पहले मुझसे पूछ लें। मैं सभी विधायकों की दिक्कत दूर कर दूंगा।

लालू प्रसाद

लालू प्रसाद ने महागठबंधन को बताया अटूट

दरअसल, विधायक भोला यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की योजना ‘सात निश्चय’ पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि इस योजना के आने से विधायकों के अधिकार छिन गए हैं। उन्होंने कहा कि विधायकों को ये अधिकार दिया जाना चाहिए कि वे अपने इलाके में योजनाएं चुन सकें और जहां मन हो काम करा सकें। इसके बाद भोला यादव के बयान के समर्थन में राजद के कई विधायक उतर गए।

सरकार में रहकर सरकार की योजना पर सवाल खड़ा किया जाना जनता दल (युनाइटेड) को नागवार गुजरा। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि राजद की ओर से दिए जा रहे ऐसे बयान महागठबंधन के लिए शुभ संकेत नहीं हैं। कुछ नेता सरकार के खिलाफ लगातार दुष्प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि ‘क्या हमारे नेताओं ने लालू प्रसाद की कभी निंदा की है?

उन्होंने कहा कि राजद अध्यक्ष को अपने नेताओं को समझाना चाहिए। सत्ता रहे या जाए, लेकिन हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।

विवाद बढ़ता देख आखिरकार लालू प्रसाद को सामने आना पड़ा। लालू प्रसाद ने कहा कि ऐसे बयानों के अर्थ का अनर्थ निकाला जाता है, जिससे सभी को बचना चाहिए। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि महागठबंधन अटूट है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह भी कई मुद्दों पर खुलेआम नीतीश सरकार की आलोचना कर चुके हैं। पार्टी लाइन से अलग वह शराबबंदी पर भी तंज कस चुके हैं।

loading...
शेयर करें