RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से जुड़े सबसे विवादित मामले आप भी पढ़ें

0

बिहार। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। सीबीआई ने लालू की परेशानियां बढ़ा दी हैं। वैसे तो विवादों से लालू यादव का पुराना रिश्ता रहा है। इससे पहले भी उनपर कई तरह के विवादों का आरोप लग चुका है।
लालू यादव पर जमीन घोटाला, ऑडियो टेप मामला, चारा घोटाला, शॉपिंग मॉल निर्माण मामला, मिट्टी घोटाला, उनकी बेटी मीसा पर भी बेनामी संपत्ति मामला विवादित मामले हैं।

लालू प्रसाद यादव

लालू प्रसाद यादव ने किया था 900 करोड़ का चारा घोटाला

1996 में लालू प्रसाद यादव पर चारा घोटाले का आरोप लगा था जिसने बिहार की राजनीति को गर्मा दिया था। उस वक्त बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू यादव ही थे और उन्हें इस घोटाले में मुख्य अभियुक्त बनाया गया है। पशुओं को खिलाए जाने वाले चारे के नाम पर सरकारी खजाने में बड़ स्तर का फर्जीवाड़ा हुआ था।

खबरों के मुताबिक, ये घोटाला करीब 900 करोड़ रुपए का है। 1997 में उन्हें घोटाले के आरोप में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर जेल जाना पड़ा था। इस मामले में दोषी करार दिए जाने पर उन्हें लोकसभा से भी अयोग्य घोषित कर दिया गया था। आज भी इस मामले में केस चेल रहा है।

लालू यादव की शहाबुद्दीन से नजदीकी, ऑडियो टेप वायरल

बिहार के बाहुबली नेता शहाबुद्दीन से लालू यादव की नजदीकियों ने उन्हें मुश्किल में डाला। शहाबुद्दीन अभी जेल में है, लेकिन खबरें आती रही कि लालू उसके संपर्क में रहते हैं। हाल ही में लालू और शहाबुद्दीन की बातचीत का एक कथित ऑडियो टेप सामने आया था। जो वायरल हुआ। वे लालू ही थे जिन्होंने शाहबुद्दीन को आशीर्वाद देकर अपनी पार्टी, जनता दल के युवा मोर्चे में प्रवेश करवाया था।

बेनामी संपत्ति मामले में फंसी मीसा भारती

बेनामी संपत्ति मामले में लालू यादव की बेटी मीसा भारती भी विवादों में घिर चुकी हैं। दिल्ली में आयकर विभाग ने उनसे कई बार पूछताछ भी की है।

हेमामालिनी के गाल पर विवादित बयान

ओमपुरी के गाल जैसी बिहार की सड़कों को हेमामालिनी के गाल जैसा बनाएंगे। लालू प्रसाद यादव तब बिहार के मुख्यमंत्री थे। उन्होंने कहा था कि बिहार की सड़के अभी ओमपुरी के गाल की तरह हैं पर वे इन्हे हेमामालिनी के गाल की तरह बनाने का वादा करते हैं। साल 2016 में उन्होंने इस विवाद पर सफाई दी और कहा कि वे हेमामालिनी का बेहद सम्मान करते हैं।

 

मिट्टी घोटाला

भाजपा नेता सुशील मोदी ने लालू यादव पर आरोप लगाया है कि उन्होंने उपने परिवार के लिए एक शॉपिंग मॉल के निर्माण से निकली मिट्टी को संजय गांधी जैविक उद्यान को बगैर टेंडर के बेच दिया। मिट्टी को 90 लाख रुपए में बेचा गया। गौरतलब है कि जिस उद्यान को मिट्टी बेची गई वह बिहार के पर्यावरण और वन विभाग के अंतर्गत आती है जिसका मंत्रालय लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप के हाथ में है।

लालकृष्ण अडवाणी की गिरफ्तारी

मंदिर आंदोलन के वक्त जब भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी रथ यात्रा कर रहे थे तो लालू यादव ने उनकी रथयात्रा रोककर उन्हें गिरफ्तार करने का आदेश दिया था। लालू यादव बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री थे. 23 अक्टूबर 1990 को जब आडवाणी का रथ बिहार के समस्तीपुर में पहुंचा तो बिहार पुलिस ने उनकी रथयात्रा रुकवाकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

 

loading...
शेयर करें