लोया मामले में कांग्रेस सहित विपक्षी दलों की बैठक आज, चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग पर चर्चा संभव

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष न्यायाधीश बी.एच.लोया की कथित रहस्मय मौत के मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) से जांच कराने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया। इसी सिलसिले में जांच के लिए राष्ट्रपति से मिलने वाले सभी विपक्षी दलों की आज एक अहम बैठक होगी। ये बैठक राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आज़ाद के कमरे में ये बैठक बुलाई गई है।

विपक्षी दलों

इस बैठक में कांग्रेस सहित 14 दलों के शामिल होने की संभावना है। इस बैठक में जस्टिस लोया की मौत को लेकर दायर याचिका को सुप्रीम कोर्ट की ओर से खारिज  किए जाने पर चर्चा होगी। इसके साथ ही मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग के प्रस्ताव पर भी चर्चा हो सकती है। विपक्ष की कोशिश की है इस मुद्दे पर ज्यादा से ज्यादा दलों के बीच सहमति बनाई जा सके। इस सर्वदलीय बैठक के बाद जज लोया की मौत की जांच को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि आजाद द्वारा बुलाई गई बैठक में विपक्षी पार्टियां आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनावों में भाजपा को कैसे हराया जाए इसपर व्यापक आम सहमति बनाने के विचार पर भी चर्चा करेंगी।

इन सवालों का अभी तक नहीं मिल सका है जवाब –

1- जांच के बिना नहीं बता सकते हैं कि मौत प्राकृतिक थी या नहीं
2- SC के सामने वो तथ्य नहीं रखे गए जिनसे मौत पर शक हो रहा है
3- लोया के साथी जजों का बयान किसी मजिस्ट्रेट के सामने नहीं हुआ है
4- पुलिस के सामने किसी का बयान क़ानूनन मान्य नहीं
5- अगर मौत प्राकृतिक है तो जांच से डर क्यों?
6- SC के फ़ैसले को तोड़-मरोड़कर राजनीति कर रही है BJP
7 – जज लोया की मौत का हार्ट अटैक से मौत बताया गया था. लेकिन ईसीजी की रिपोर्ट में ऐसा नहीं है
8 – नागपुर में जज लोया की सुरक्षा को हटा दिया गया था और वह मुंबई से नागपुर ट्रेन से गए थे
9 – पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनका नाम गलत क्यों लिखा गया था
10 – परिवार को जज लोया के कपड़ों में खून मिला था. उनकी मौत के बाद दो अन्य जजों की भी मौत हुई.

Related Articles