‘वचन पत्र’ लाने के बाद अब ‘आरोप पत्र’ लाने की तैयारी में कांग्रेस

जहां एक तरह देश भर में राज्यों के नाम बदलने की कवायद चल रही हैं वहीँ दूसरी और इसका असर मध्य प्रदेश की कांग्रेस में भी देखने को मिल रहा है. कांग्रेस ने मध्य प्रदेश चुनावों में अपने घोषणा पत्र का नाम वचन पत्र रखा था और इसी नाम से ही जारी किया.

घोषणा पत्र का नाम बदल कर ‘वचन पत्र’ रखने के बाद अब कांग्रेस आरोप पत्र लाने की कवायद शुरू करने जा रही. इस आरोप पत्र के जरिये  मध्य प्रदेश में कांग्रेस सत्ता में काबिज भाजपा सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है. इस आरोप पत्र में कांग्रेस 50 से ज्यादा मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी में है.

वचन पत्र

जानकारी के मुताबिक़ कांग्रेस इस आरोप पत्र में मध्य प्रदेश में काबिज शिवराज सिंह चौहान सरकार के घोटालों को उजागर करने की कोशिश में लगी हुई है. कांग्रेस नेता अजय सिंह ने अपने विधायकों के साथ मिलकर इस आरोप पता को तैयार किया है. ऐसी खबरें हैं कि इस आरो पत्र को कमलनाथ को सौंपा गया है.

कांग्रेस द्वारा जारी किये जाने वाले इस आरोप पत्र में मध्य प्रदेश सरकार के घोटालों की लम्बी फेहरिस्त तैयार की गई है. जिन आरोपों को कांग्रेस इस आरोप पत्र के जरिये उजागर करने जा रही है उनमे से कुछ घोटाले हैं:

  • व्यापमं
  • ई-टेंडरिंग
  • पोषण आहार घोटाले
  • महिला सुरक्षा
  • बलात्कार
  • किसान
  • आत्महत्या

यह कुछ आरोप हैं जिनको लेकर कांग्रेस मध्य प्रदेश सरकार को घेरने की कवायद में लगी हुई है. इसके साथ ही आदिवासियों को बांटे गए चप्पल-जूते पर भी कांग्रेस ने गड़बड़ी के आरोप लगाए हैं.

Related Articles