वर्दी की गुंडई, दलित परिवार की महिलाओं पर खूब चले लाठी-डंडे

जौनपुर-यूपी के जौनपुर में पुलिस ने दलित परिवार की महिलाओं को जमकर पीटा. पुलिस द्वारा चलाये गए लाठी-डंडो से कई महिलाओं के सिर में चोट आई और अन्य कई महिलायेँ गंभीर रूप से घायल हो गई. परिवार का आरोप है की पुलिस वाले अवैध वसूली कर रहे थे, जब उन्होंने इसका विरोध किया तो पुलिस वाले उन पर बरस पड़े और लाठी-डंडो की बरसात कर दी. वहीँ पुलिस का कहना है की परिवार ने उन पर हमला किया जिसमेँ चार पुलिस वाले घायल हो गए. मारपीट का विडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

https://twitter.com/Shinde_Voice/status/1300164205677613061

क्या है मामला?

जौनपुर के नेवढ़िया थाना क्षेत्र के सीमतसराय गाँव का एक दलित परिवार सूअर का मांस बेचेने का काम करता है. परिवार का आरोप है की रविवार को पुलिस वाले घर आकर पैसे की मांग करने लगे और जब उन्होंने पैसे देने से मना किया तो पुलिस वालों ने उनको पीटना शुरू कर दिया. परिवार ने इस पूरे प्रकरण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया साथ ही पुलिस मुख्यालय पहुंचकर डीएम और एसपी को इस घटना की जानकारी दी.

पुलिस की दलील

इस पूरे मामले में पुलिस की अपनी अलग कहानी है। एएसपी ग्रामीण त्रिभुवन सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मोहर्रम और लॉकडाउन के चलते मांस की बिक्री से मना किया गया था। इसके बाद भी खुलेआम सूअर का मांस बेचा जा रहा था। उन्होंने बताया की सूचना मिलने पर सीतमसराय चौकी की टीम जब मना करने पहुंची, तो परिवार ने उन पर हमला कर दिया. इस हमले में चौकी इंचार्ज समेत चार लोग घायल हो गए.

Related Articles