दूरसंचार उद्योग के लिए बुरी खबर, GST की वजह से उठाना पड़ेगा भारी नुकसान

0

नई दिल्ली। दूरसंचार उद्योग ने गुरुवार को 18 फीसदी वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) की दर से निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि यह क्षेत्र पहले से ही कष्ट में है और इतनी ऊंची दर इसमें इजाफा ही करेगा। सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) के महानिदेशक राजन ए. मैथ्यूज ने कहा, “दूरसंचार उद्योग जीएसटी का स्वागत करता है, लेकिन 18 फीसदी दर की घोषणा से हमें निराशा हुई है। उद्योग के वर्तमान आर्थिक हालात को देखते हुए हमने सरकार से निवेदन किया है कि वर्तमान की 15 फीसदी दर से अधिक दर पर कर वसूलने से दूरसंचार सेवाएं उपभोक्ताओं के लिए मंहगी हो जाएगी।”

वस्तु और सेवा कर

दूरसंचार उद्योग जीएसटी की दर से  है निराश

उन्होंने कहा, “एक जरुरी सेवा होने के नाते दूरसंचार उद्योग को करों में छूट का फायदा देने की जरुरत है, ताकि निर्बाध और परेशानी से मुक्त सेवाएं मुहैया कराई जा सके। उद्योग ने अथक काम किया है और देश के हर व्यक्ति को जोड़ने के अपने आदर्श को पूरा किया है।” हालांकि, दूरसंचार उद्योग संगठन ने कहा है कि जीएसटी नियमों के कुछ पहलुओं पर अभी भी स्पष्टता की प्रतीक्षा है।

loading...
शेयर करें