राबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट देने वाली खबर झूठी निकली

0

बीकानेर। राबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट देने वाली खबर झूठी निकली।  बीकानेर पुलिस ने उन तमाम खबरों को बकवास बताया है जिनमें ये कहा जा रहा था कि जमीन हड़पने के मामले में राबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट मिल गई है। पुलिस ने साफ किया कि उनके खिलाफ जांच अभी चल रही है।  सोशल मीडिया पर खबर वायरल होने के बाद मीडिया रिपोर्ट्स में भी ये सुर्खियां बनी कि जमीन हड़पने के मामले में सोनिया गांधी का दामाद राबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट मिल गई है।

राबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट

राबर्ट वाड्रा को क्लीन चिट नहीं

बीकानेर पुलिस के साथ साथ राज्य सरकार ने भी इन खबरों को खारिज कर दिया। राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने साफ किया कि उन्हें वाड्रा को अभी कोई क्लीन चिट नहीं दी गई है और न ही ऐसी कोई खबर है। जांच चल रही है। इसके नतीजों का हम भी इंतजार कर रहे हैं और तब तक हम कुछ नहीं कह सकते हैं।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया था कि बीकानेर में 69.55 हेक्टर जमीन के सौदों में वाड्रा और उनकी कंपनी स्काई लाइट को क्लीन चिट मिल गई है। इस मामले में वसुंधरा सरकार ने 2014 में केस दर्ज कराया था।

इन खबरों में डिप्टी एसपी रामअवतार सोनी के हवाले से लिखा गया था कि इस जमीन मामले में वाड्रा के साथ धोखा हुआ। लेकिन सोनी का कहना है कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा। इस मामले में किसी को क्लीन चिट नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि जब मामले की जांच चल रही है तो ऐसे में वाड्रा को क्लीन चिट कैसे दी जा सकती है।  दूसरी तरफ बीकानेर के सांसद अर्जुन राम मेघवाल ने इन खबरों को झूठा बताया।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा जमीन सौदों में गड़बड़ी के मामलों की जांच का सामना न केवल राजस्थान में कर रहे हैं बल्कि हरियाणा में भी उनके खिलाफ ऐसी ही जांच चल रही हैं। हरियाणा की खट्टर सरकार ने जस्टिस एसएन डींगरा की अध्यक्षता में एक सदस्यीय आयोग का गठन किया है जो इस मामले को देख रहा है।

बीजेपी ने पिछले लोकसभा चुनावों में इसे बड़ा मुद्दा बनाया था। इसलिए राबर्ड वाड्रा को क्लीन चिट मिलने की खबरों से पार्टी हैरान थी। दूसरी तरफ कांग्रेस को भी इस नतीजे से हैरानी थी।

loading...
शेयर करें