आ गये अच्छे दिन, मोदी ने दिया यूपी वालों को बड़ा तोहफा

0

लखनऊ। यूपी के निवासियों को आने वाले दिनों में एक बड़ी सौगात मिलने वाली है। यूपी से जलपरिवहन शुरू होने वाला है। यानि पानी के रास्‍ते न सिर्फ आम लोग बल्कि बड़े सामान भी एक जगह से दूसरी जगह आ-जा सकेंगे।  आने वाले शुक्रवार को  वाराणसी से कोलकाता के बीच पानी के रास्ते कारों को ले जाया जा सकेगा।  इसके लिए पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी दो जहाजों को हल्दिया बंदरगाह के लिए रवाना करेंगे। राष्ट्रीय जल मार्ग संख्या एक पर वाराणसी से हल्दिया के बीच 12 अगस्त से पानी के जहाज के जरिए माल परिवहन शुरू हो रहा है। केंद्रीय जहाजरानी मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी है।

वाराणसी से कोलकाता के बीच

वाराणसी से कोलकाता के बीच शुरू होगा जलमार्ग

शुक्रवार को दो जहाज कोलकाता के लिए रवाना होंगे, जिसमे एक जहाज में मारुति कंपनी की कारें जबकि दूसरे जहाज में भवन निर्माण से जुड़ी सामग्री लदी होंगी।उन्होंने बताया कि जलमार्ग के जरिए परिवहन होने से सड़क मार्ग के मुकाबले ढुलाई लागत 50 फीसदी से भी ज्यादा घट जाएगी। इस समय एक टन माल ढोने में प्रति किलोमीटर किराया सड़क मार्ग से 2.50 रुपये, रेल मार्ग से 1.36 रुपये और जल मार्ग से ढुलाई पर 1.06 रुपये पड़ता है।

जलमार्ग से सामान ले जाने पर होगी बचत

इससे यह बात तो साफ़ है कि, सड़क मार्ग के मुकाबले जल मार्ग में किराए में 50 फीसदी से भी ज्यादा की बचत होती है। इसके अलावा जलमार्ग से ढुलाई में प्रति टन किलोमीटर ईंधन की खपत भी काफी घट जाती है जो कि पर्यावरणीय दृष्टिकोण से भी बेहतर है। शुक्रवार को ही वाराणसी में मल्टीमॉडल टर्मिनल के पहले चरण की परियोजना का भी शिलान्यास किया जाएगा। 169 करोड़ रुपये की इस परियोजना के लिए निविदा प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है।

loading...
शेयर करें