विकास दुबे की कहानी का असली सच छिपाना चाहती है योगी सरकार- जितिन प्रसाद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के जनपद कानपुर के बिकरु गांव में दबिश देने गए आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी और 5 लाख का इनामी मोस्ट वांटेंड विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके पांच साथी अलग-अलग मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं और तीन साथी गिरफ्तार है। विकास के दो साथियों का एनकाउंटर आज सुबह ही हुआ।

विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने योगी सरकार पर सवाल उठाते हुए आज ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, कि जिस तरह से योगी सरकार विकास दुबे के प्रकरण को लेकर चल रही है, उससे ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार असली कहानी उजागर नहीं करना चाहती। सरकार को विकास दुबे को गिरफ्तार करना चाहिये। ताकि 8 शहीद पुलिस कर्मियों के परिवारों को सही न्याय मिले एवं उन शहीद पुलिस कर्मियों का वलिदान व्यर्थ न जाये।

दुबे गैंग के सदस्य के असहाय माता-पिता को एवं 9 दिन पूर्व शादी हुई ख़ुशी दुबे जो विधवा है। उसका उत्पीड़न से क्या होने वाला है? विकास दुबे को गिरफ्तार कर सिस्टम में ऊपर से नीचे तक उसके संबंधों की जांच होनी चाहिये। प्रभाकर मिश्रा जो हिरासत में था। उसकी मुठभेड़ दिखाकर एंकाउंटर करना , इस बात को दर्शाता है। सरकार असली कहानी को छिपाने में लगी है। ताकि बड़े चेहरे बेनकाव न हो जाये।

बता दें, कि आज उत्तरप्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को मध्यप्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि दुबे को यहां महाकाल पुलिस चौकी क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया। मध्यप्रदेश पुलिस ने उसे अपनी गिरफ्त में लेकर सुरक्षा के सख्त प्रबंध किए हैं। कुछ दिनों पहले उत्तरप्रदेश में आठ पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों की हत्या के बाद से वह फरार था और उत्तरप्रदेश में पिछले 6 दिनों से यूपी पुलिस की 40 टीमें उसकी तलाश कर रही थी।

Related Articles