विक्स की गोली पर पूरे देश में बैन, सेहत के लिए खतरनाक

0

नई दिल्ली। सर्दी-जुकाम की दवा ‘विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा’ का उत्पादन और बिक्री तत्काल प्रभाव से बंद कर दी गई है। अमेरीकी कंपनी प्रॉक्टर एण्ड गैम्बल के उत्पाद पर सरकार के फैसले के बाद बैन लगाया गया है। प्रॉक्टर एण्ड गैम्बल की इंडिया यूनिट ने विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा की बिक्री रोक दी है।

विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा

विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा है खतरनाक

सर्दी-जुकाम की इस दवा पर भारतीय औषधि नियामक संस्था ने बैन लगा दिया था। सरकार से जुड़ी इस संस्था के मुताबिक विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा की गोली स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल रही है। इसके बाद कंपनी ने मंगलवार को बयान जारी कर विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा के उत्पादन व बिक्री बंद करने का एलान किया।

दरअसल, विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा में पैरासिटामोल, फिनाइलफ्रीन व कैफीन का मिश्रण होता है, जिस पर भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रतिबंध लगाया है। बीते हफ्ते इसी मामले में कंपनी को नोटिस भी जारी किया गया था। हालांकि कंपनी ने कहा है कि वह अपने उत्पाद को गुणवत्ता और कानून मानदण्डों पर दुरुस्त करने के बाद फिर बाजार में आएगी।

भारतीय औषधि नियामक ने 344 दवओं के मिश्रण पर प्रतिबंध लगाया है। इसे फिक्स कॉम्बिनेशन डोज भी कहते हैं। इनमें कई एंटीबायोटिक और एनाल्जेसिक्स शामिल हैं। ऐसी दवाएं बनाने में दो या दो से अधिक दवाइयों (सॉल्ट) का इस्तेमाल किया जाता है। खबरों के मुताबिक इन दवाइयों को बनाने के लिए भारत के हिसाब से कोई ठोस रिसर्च नहीं की गई है। इनके क्लीनिकल ट्रॉयल पर भी सवाल उठाए गए हैं। विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा की गोली भी इन्हीं दवाओं में एक है। हालांकि भारत में ऐसी सैकड़ों दवाइयां मार्केट में बिक रही हैं।

इसके पहले भी 2007 में सरकार ने 295 दवाइयां पर बैन लगाया था, लेकिन फॉर्मा कंपनियां कोर्ट चली गईं, जिससे यह मामला अटका हुआ है। एक दिन पहले खांसी के सिरप कॉरेक्स की बिक्री पर भी बैन लगा दिया गया था। हालांकि कंपनी कोर्ट में चली गई, जहां से उसे फिलहाल स्टे मिल गया है।

इधर कई दिनों से स्वास्थ्य मामलों से जुड़ी खबरें चर्चा का केन्द्र बन रही हैं। बीते महीने जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी पर करीब 500 करोड़ रुपए का जुर्माना ठोंका गया था। खबरों के मुताबिक इस कंपनी के पाउडर से एक विदेशी महिला को कैंसर हो गया था। बाद में उसकी मौत भी हो गई। महिला के परिवारवालों ने इसके लिए जॉनसन एंड जॉनसन को जिम्मेदार मानते हुए कोर्ट में केस किया था।

loading...
शेयर करें