विजय हजारे ट्रॉफी : जाधव के शतक से जीता महाराष्ट्र

0

कटक। केदार जाधव (113) के शानदार शतक की बदौलत महाराष्ट्र ने विजय हजारे ट्रॉफी में मंगलवार को दिल्ली को 195 रनों से करारी शिकस्त दी। डीआरआईईएमएस मैदान पर बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने पर महाराष्ट्र ने निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट खोकर 367 रन बनाए थे। जवाब में दिल्ली की टीम 33.4 ओवरों में 172 रनों पर ढेर हो गई।

विजय हजारे ट्रॉफी

विजय हजारे ट्रॉफी : महाराष्ट्र 79 रनों पर गंवाए थे 2 विकेट

महाराष्ट्र ने 79 रनों पर अपने दो विकेट खो दिए थे। इसके बाद उतरे जाधव ने नौशाद शेख (52) के साथ तीसरे विकेट के लिए 107 रनों की साझेदारी की, और फिर निखिल नाइक (63) के साथ चौथे विकेट के लिए 59 रन जोड़े। 64 गेंदों में 11 चौके और आठ छक्के लगाने वाले जाधव 245 के कुल स्कोर पर आउट हुए। इसके बाद निचले क्रम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए महाराष्ट्र को बड़े स्कोर तक पहुंचाया।

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली को गौतम गंभीर (53) और शिखर धवन (24) ने अच्छी शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 64 रन जोड़े। लेकिन इस जोड़ी के टूटने के बाद दिल्ली का कोई और बल्लेबाज दवाब को झेल नहीं पाया और टीम मैच गंवा बैठी। चेन्नई के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में खेले गए एक और अन्य मैच में राजस्थान ने रोमांचक मुकाबले में गुजरात को 14 रनों से मात दी।

गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया और राजस्थान को 47 ओवरों में 183 रनों पर ही ढेर कर दिया। राजस्थान के लिए अर्जित गुप्ता ने सर्वाधिक 69 रन बनाए। कमलेश नागारकोटी 56 रनों पर नाबाद लौटे। गुजरात के लिए ईश्वर चौधरी, जसप्रीत बुमराह और चिराग परमार ने दो-दो विकेट लिए।

आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी गुजरात 169 रनों पर ही ढेर होकर मैच गंवा बैठी। उसके लिए भार्गव मेराई ने सबसे ज्यादा 51 रन बनाए। रुजुल भट्ट ने 49 रनों का योगदान दिया। राजस्थान के लिए पंकज सिंह और नागरकोटी ने तीन-तीन विकेट लिए। कल्याणी में खेले गए झारखंड और सर्विसेज के मैच में झारखंड ने सात विकेट से जीत दर्ज की। सर्विसेज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शमशेर यादव (54) और गौरव कोचर (50) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से 50 ओवरों में नौै विकेट खोकर 276 रन बनाए।

जवाब में महेन्द्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली झारखंड ने युवा बल्लेबाज ईशान जग्गी (नाबाद 116) और सौरव तिवारी (102) की शतकीय पारियों की मदद से 22 गेंद शेष रहते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया। तिवारी और जग्गी ने चौथे विकेट के लिए 214 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत दिलाई।दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेले गए मैच में बड़ौदा ने पंजाब को 75 रनों से हरा दिया।

बड़ौदा ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 48.3 ओवरों में अपने सभी विकेट खोकर 249 रन बनाए थे। उसके लिए क्रुणाल पांड्या ने सर्वाधिक 78 रनों स्कोर किया था। उनके अलावा आदित्य वाघमोड़े ने 54 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी पंजाब 40.4 ओवरों में 174 रनों पर ही ढेर हो गई। उसके लिए गुरकीरत सिंह ने 62 और मनदीप सिंह ने 42 रनों की पारियां खेली लेकिन इन दोनों के अलावा कोई और बल्लेबाज विकेट पर अपने पैर नहीं जमा सका। पंजाब के छह बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके।

मध्य प्रदेश की टीम ने चेन्नई के एमआरएफ पाचयप्पा मैदान पर खेले गए मैच में मुंबई को हराकर बड़ा उलटफेर किया। मध्यप्रदेश की जीत के हीरो चंद्रकांत साकुरे रहे जिन्होंने आठ ओवरों में महज 25 रन देकर पांच विकेट हासिल किए। टॉस हारने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी मध्यप्रदेश की टीम 45.1 ओवरों में महज 214 रन ही बना पाई थी। मध्य प्रदेश की तरफ से सलामी बल्लेबाज अंकित दाने ने सबसे ज्यादा 46 रन बनाए।

आसान से लक्ष्य को साकुरे ने मुंबई के लिए मुिश्कल साबित किया। मुंबई की पूरी टीम 38.4 ओवरों में 134 रन ही बना सकी। मुंबई की तरफ से सर्वोच्च स्कोरर अभिषेक नायर (24) रहे। साकुरे के अलावा सारांश जैन ने तीन विकेट लिए।

loading...
शेयर करें