विधानसभा में बसपाईयों ने लहराए बैनर तो बीजेपी ने किया वाकआउट

0

लखनऊ। विधानसभा कार्यवाही शुरू होते ही शनिवार को बहुजन समाज पार्टी के सदस्यों ने आगरा के सत्येन्द्र कुमार की हत्या का मामला जोर-शोर से उठाया। बसपा सदस्यों ने शनिवार को इस मामले को लेकर सदन में नारेबाजी की और बैनर लहराये। उन्होंने कहा कि सत्येन्द्र कुमार के परिजनों को 20 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए। वहीं भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों ने विधानसभा में शिक्षा का अधिकार (आरटीई) का मुद्दा उठाया। निजी स्कूलों में गरीब छात्रों को प्रवेश नहीं देने का आरोप लगाते हुए भाजपा सदस्यों ने सरकार को घेरा और फिर सदन से वाकआउट कर गए।

विधानसभा कार्यवाही

विधानसभा कार्यवाही: आजम ने कहा वह सीएम से बात करेंगे

विधानसभा कार्यवाही के दौरान बसपाईयों के हंगामे पर विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय ने कहा कि उन्हें अपनी बात रखने का मौका दिया जाएगा। इसके बाद बसपा सदस्यों ने सदन के समक्ष अपनी बात रखते हुए कहा कि माफियाओं के इशारे पर उसकी हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने भी कार्रवाई नहीं की। सत्येन्द्र कुमार के परिजनों को धमकी दी जा रही है। इस पर संसदीय कार्य मंत्री आजम खां ने कहा कि वह इस मामले में मुख्यमंत्री से बात करेंगे। उन्होंने मामले में उचित कार्रवाई किये जाने का आश्वासन भी दिया।

बीजेपी ने उठाया निजी स्कूलों का मामला

भाजपा विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल ने कहा कि आरटीई के तहत यूपी के निजी स्कूलों में गरीब छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार ने नियमावली में गलत तरीके से संशोधन करके गरीब बच्चों के प्रवेश की बाध्यता खत्म कर दी है। इससे स्कूल मनमानी करने लगे हैं।

कांग्रेस ने भाजयुमो नेता का मामला उठाया

विधानसभा में कांग्रेस के पंकज मलिक ने शनिवार को बदायूं के भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष कुलदीप वाष्र्णेय के विवादास्पद बयान का मुद्दा उठाया। उन्होंने इस मामले को उठाते हुए चर्चा कराये जाने की भी मांग की। जिस पर संसदीय कार्यमंत्री आजम खां ने उचित कार्रवाई करने का भरोसा दिलाते हुए कहा कि इस मामले को वह देखेंगे।

loading...
शेयर करें