सदन में भी नजर आई अखिलेश और शिवपाल की दुश्मनी, नजरें तक नहीं मिलाई

0

लखनऊ। प्रदेश की यूपी सरकार सोमवार को विधानसभा सत्र के पहले दिन सदन में मौजूद थी। सरकार को विश्‍वास था कि आज स्‍टेट जीएसटी बिल पास हो जाएगा। लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। विधानसभा की कार्यवाही में जबरदस्‍त हंगामा हुआ। राज्‍यपाल पर कागज के टुकड़े फेंके गए।

विधानसभा की कार्यवाही

विधानसभा की कार्यवाही में आए दिलचस्‍प नजारे

सदन की कार्यवाही में भाग लेने को सभी नेता पहुंच रहे थे। समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष और एमएलसी अखिलेश यादव भी सदन की तरफ बढ़ रहे थे। वहीं दूसरी तरफ उनके चाचा शिवपाल यादव भी आ रहे थे। दोनों ने एक दूसरे को नजरअंदाज किया। दोनों ने एक दूसरे की तरफ नजरें भी नहीं डालीं।

अखिलेश की पीछे वाली सीट पर बैठे

कुछ साथी सदस्यों ने जब शिवपाल को सबसे पीछे बैठे देखा तो उन्हें आगे बुलाया। इस पर शिवपाल अखिलेश के ठीक पीछे वाली सीट पर बैठ गये, मगर सपा अध्यक्ष ने उन्हें देखने के बजाय ना तो किसी तरह का अभिवादन किया और ना ही कोई बात की।

शिवपाल और अखिलेश के बीच राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता जगजाहिर

शिवपाल और अखिलेश के बीच राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता जगजाहिर है। पिछले साल सितम्बर में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश द्वारा भ्रष्टाचार के आरोपी मंत्री गायत्री प्रजापति तथा राजकिशोर सिंह को बर्खास्त किये जाने के बाद शिवपाल और उनके बीच पैदा हुई तल्खी इस घटनाक्रम के कुछ ही दिनों बाद अखिलेश को सपा प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाये जाने को लेकर चरम पर पहुंच गयी थी।

loading...
शेयर करें