वैज्ञानिको ने किया दावा, मच्छरों से नहीं फैल सकता कोरोना वायरस

कोरोना संक्रमण मच्छरों के काटने से नहीं फैलता। ‘जर्नल साइंटिफिक रिपोर्ट्स’ में छपे एक अध्ययन ने पहली बार विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएओ) के इस दावे पर वैज्ञानिक मुहर लगा दी है। अमेरिका स्थित कंसास स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने मच्छरों की तीन प्रमुख नस्लों-एडीस एजिप्टी, एडीस एल्बोपिक्टस और क्युलेक्स क्युंकिफेसियेटस में सार्स-कोव-2 वायरस के पनपने की संभावनाओं को परखा।

इस दौरान पाया कि वायरस इनमें से किसी में भी अपनी आबादी बढ़ाने में सक्षम नहीं था। ऐसे में मच्छरों के काटने से मनुष्य में संक्ररण के प्रसार का खतरा कतई नहीं है। मुख्य शोधकर्ता स्टीफन हिग्स के नेतृत्व में हुए इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने इंजेक्शन के जरिये तीनों नस्ल के मच्छरों के शरीर में सार्स-कोव-2 वायरस पहुंचाया।

चौबीस घंटे बाद उन्होंने देखा कि वायरस मच्छरों को संक्रमित करने में तो सफल रहा है, पर वह अपने आबादी नहीं बढ़ा पा रहा। इससे वह किसी भी इनसान में वायरस का वाहक नहीं बन सकता। हिग्स ने साफ किया कि मच्छर अगर किसी संक्रमित को काटता है तो भी उससे अन्य लोगों में वायरस फैलने का जोखिम नहीं होता।

Related Articles