Vodafone-Idea के मिलने पर, ग्राहकों की लगेगी लॉटरी

0

नई दिल्ली। देश में जियो के लांच होते ही सभी बड़ी टेलीकॉम कंपनी इसे पीछा करने के लिए एक से बढ़कर एक ऑफर पेश किये फिर भी जियो को पीछा कर पाना टेलीकॉम कंपनियों के लिए मुश्किल का सबब बनता जा रहा है। ऐसे में जियो को पीछे करने के लिए वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्यूलर ने आधिकारिक तौर पर विलय की घोषणा कर दी है। जिसके बाद ये सवाल उठ रहे हैं कि, इन कंपनियों ले विलय होने के बाद ग्राहकों को इसका क्या फायदा मिलने वाला है। आइये बताते हैं कि इस विलय से ग्राहकों को क्या हो सकता है फायदा।

वोडाफोन इंडिया और आइडिया

वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्यूलर का हुआ विलय

अगर वोडाफोन के नेटवर्क की बात करें तो. आइडिया से कई गुना बेहतर नेटवर्क है। ऐसे में जहां-जहां आइडिया का नेटवर्क कमजोर है, वहां वोडाफोन अपना नेटवर्क लगाएगा। जिससे इसका सीधा फायदा दोनों कंपनियों के लगभग 38 करोड़ ग्राहकों होगा। जैसा की बता दें वोडफोन के पास 20 करोड़ और आइडिया के पास 18 करोड़ ग्राहक हैं। इसके साथ ही ऐसे कयास लगाये जा रहे है कि `विलय के बाद ग्राहकों को कई नए ऑफर्स दिए जाएंगे। खबरों की मानें तो इस मौके को भुनाने के लिए कंपनी नए-नए और आकर्षक ऑफर पेश कर सकती है।

जियो की एंट्री के बाद टेलिकॉम कंपनियों के लिए काफी मुश्किलें खड़ी हो गई हैं। मर्जर के बाद कंपनी के पास सबसे ज्यादा ग्राहक होंगे। ऐसे में कंपनी जियो के सामने मजबूती से खड़ी रह सकेगी। वहीँ मर्जर के बाद बनने वाले इकाई में कुमार मंगलम बिडला को चेयरमैन बनाया जाएगा। साथ ही वोडाफोन सीएफओ की नियुक्ति करेगी। कुमार मंगलम बिड़ला ने यह भी स्पष्ट किया है कि मर्जर के बाद नई कंपनी से किसी तरह की छटनी नहीं की जाएगी।

loading...
शेयर करें