नारद राय और बलराम यादव की अखिलेश मंत्रिमंडल में दमदार वापसी

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने सोमवार को अपने मंत्रिमंडल विस्तार किया। राजभवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल राम नाईक ने चार नए मंत्रियों को शपथ दिलवाई। समारोह से जुड़े विवादों की ख़बरें भी सुनाई देती रहीं। बताया जाता है कि लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव नाराजगी के चलते शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए। हालाँकि अखिलेश यादव ने उनसे इस सम्बन्ध में फ़ोन पर बात की।

1- नारद राय-कैबिनेट मंत्री

2- बलराम यादव-कैबिनेट मंत्री

3- रविदास मेहरोत्रा- राज्य मंत्री, स्वतंत्र प्रभार

4- शारदा प्रताप शुक्ल- राज्य मंत्री, स्वतंत्र प्रभार

बता दें कि बलराम यादव पहले  माध्यमिक शिक्षा मंत्री थे। कौमी एकता दल के सपा में विलय के बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था। वहीं दूसरी ओर नारद राय खेल एवं खादी ग्रामोद्योग मंत्री रह चुके हैं। साथ ही  जियाउद्दीन रिजवी को भी मंत्री बनाया गया है।

अखिलेश सरकार का सातवां कैबिनेट विस्तार

बता दें कि अखिलेश यादव की चार साल पुरानी सरकार का यह सातवां कैबिनेट विस्तार है। सोमवार को राजभवन के गांधी सभागार में सभी नए मंत्रियों को राज्यपाल राम नाइक ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। साल 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव के नजरिए से  इस मंत्रिमंडल विस्तार को काफी अहम माना जा रहा है।

गौरतलब है कि ऐसा माना जा रहा था कि समाजवादी पार्टी  कैबिनेट में कुछ नए युवा चेहरों को लाने की तैयारी थी। मथुरा कांड पर पार्टी व सरकार का मजबूती से बचाव करने वाले समाज कल्याण मंत्री राम गोबिंद चैधरी का कद बढ़ाया जा सकता था। पिछले दिनों विधान परिषद सदस्य बने सुनील साजन व आनंद भदौरिया को जगह मिलने के कयास लगाए जा रहे थे। कुछ मंत्रियों की छुट्टी होने की भी चर्चा थी।

 

loading...
शेयर करें