न भागवत, न आडवाणी… ये नेता होगा देश का अगला राष्ट्रपति! आप भी रह जाएंगे हैरान

0

नई दिल्ली राष्ट्रपति चुनाव करीब आ रहे हैं। राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने नेताओं को चुनाव की रेस में उतारने की पूरी कोशिश कर रही हैं। बीते दिनों महाराष्ट्र की पार्टी शिवसेना ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का नाम राष्ट्रपति पद के लिए सामने रखा था। लेकिन भागवत ने खुद को इस रेस से बाहर कर लिया। उन्होंने कहा था कि वह राष्ट्रपति पद की रेस में नहीं हैं। अब शिवसेना ने राष्ट्रपति के लिए एक और नाम आगे किया है। शिवसेना ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार को सर्वसम्मत उम्मीदवार के रूप में पेश करने की बात कही।

शरद पवार

शरद पवार को सर्वसम्मत उम्मीदवार के रूप में बीजेपी भी दे समर्थन

शिवसेना ने राष्ट्रपति पद के लिए शरद पवार को सर्वसम्मत उम्मीदवार के रूप में पेश करते हुए कहा कि भाजपा को भी उनको (शरद पवार को) समर्थन देना चाहिए। राउत ने कहा है कि शरद पावर काबिल हैं और काबिल राष्ट्रपति भी बन सकते हैं। हालांकि खुद शरद पवार ने राष्ट्रपति पद की दौड़ से खुद को सार्वजनिक रूप से दूर रखा है और उनकी पार्टी भी इस बात को दोहरा रही है।

वहीं, पवार ने आगामी राष्ट्रपति चुनाव के निर्विरोध कराए जाने की बात कही है। शरद पवार ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्ष से बात करें तो राष्ट्रपति चुनाव निर्विरोध कराया जा सकता है। इसके साथ ही पवार ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को राष्ट्रपति चुनाव के लिए आवश्यक समर्थन मिला हुआ है।

पहली पसंद भागवत ही हैं

गौरतलब है कि शिवसेना पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हालिया एनडीए की बैठक में शिरकत कर बीजेपी के उम्मीदवार को समर्थन का ऐलान किया है। लेकिन इस बीच वामपंथी नेता सीताराम येचुरी की तरफ से शरद पवार का नाम विकल्प के रूप में लेने से शिवसेना का मन डोल गया लगता है। हालांकि शिवसेना नेता संजय राउत याद दिला रहे हैं कि पार्टी की पहली पसंद मौजूदा स्थिति में अब भी आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ही हैं।

loading...
शेयर करें