‘भारत माता की जय’ पर अब कांग्रेस नेता शशि थरूर ने दिया बड़ा बयान

0

नई दिल्ली बीते दिनों भारत माता की जय के मुद्दे को लेकर काफी बवाल हुआ। एआईएमआईएम के चीफ असुदुद्दीन ओवैसी ने एक कार्यक्रम में कहा था कि चाहे उनकी गर्दन पर छुरी क्यों न रख दो फिर भी वह भारत माता की जय नहीं बोलेंगे। जिसके बाद कई लोगों ने उनके इस बयान की आलोचना की थी। मशहूर लेखक जावेद अख्तर और उनकी पत्नी शबाना आजमी ने भी ओवैसी पर निशाना साधा था। अब कांग्रेस नेता शशि थरूर ने इस पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम किसी से जोर जबरदस्ती भारत माता की जय का नारा लगाने के लिए नहीं कह सकते। बीजेपी ने अपने प्रस्ताव में कहा था कि भारत माता की जय कहने से इनकार करना अपने आप में संविधान का अपमान करने जैसा है।

शशि थरूर

शशि थरूर बोले, कुछ मुसलमानों को दिक्कत होती है

शशि थरूर ने कहा कि इस बारे में समझने की जरूरत है। भारत के बारे में किसी को ऐतराज नहीं है। लोग भारत माता की जय कहने पर सवाल कर रहे हैं। मेरे लिए भारत माता हो सकती है। कुछ और लोगों के लिए भी भारत माता सम्मान के लायक हैं। हिंदुओं और मुसलमानों में बड़ी आबादी को इससे कोई दिक्कत नहीं, लेकिन कुछ मुसलमानों को दिक्कत होती है। उन्होंने कहा कि कुछ मुसलमानों को भारत माता हिंदू देवी की तरह लगती हैं। हिंदू संगठनों ने भारत माता की तस्वीर भी देवी जैसी बनाई है। सिंह पर सवार छह भुजाओं वाली देवी। उनकी पूजा भी करते हैं। इससे मुसलमानों को दिक्कत होती है।

क्या कहा था ओवैसी ने

असादुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि वह ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलेंगे। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान के विरोध में ओवैसी ने यह बात कही थी। भागवत ने पिछले दिनों सुझाव दिया कि नई पीढ़ी को भारत माता की जय बोलना सीखाना होगा। जिसपर ओवैसी ने कहा था कि मैं वह जयकारा नहीं लगाता। भागवत साहब, आप क्या करने जा रहे हैं। आप यदि मेरी गर्दन पर छूरी रख दें तो भी मैं यह नारा नहीं लगाऊंगा।

कन्हैया को भगत सिंह कहने पर थरूर पर मुकदमा

कन्हैया कुमार की तुलना शहीदे आज़म भगत सिंह से करने के मामले कानपुर सीएमएम कोर्ट में शशि थरूर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। कानपुर निवासी हर्ष कुमार ने सीएमएम कोर्ट में परिवाद दाखिल करते हुए कहा की शशि थरूर का बयान मृत व्यक्ति की ख्याति को नुक्सान पहुंचाने वाला है इसलिए थरूर के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाए। वादी के वकील विजय बक्शी ने बताया की कोर्ट ने मुकदमा दर्ज़ कर लिया है। अब मामले की अगली सुनवाई 11 अप्रैल को होगी।

loading...
शेयर करें