ट्रेन में शादीशुदा जोड़े से डिस्टर्ब मंत्री ने कहा-‘गेट आउट’

0

कन्याकुमारी। कन्याकुमारी सुपरफास्ट एक्सप्रेस में सफर कर रहे शादीशुदा जोड़े को केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन ने कोच से निकाल दिया। बाद में जब केन्द्रीय मंत्री से इस बारे में माफी मांगने को कहा गया तो उन्होंने इनकार कर दिया। खबरें हैं कि मंत्री ने वीवीआईपी का ओहदा दिखाते हुए इस जोड़े को कोच से निकलने पर मजबूर किया।

शादीशुदा जोड़े

शादीशुदा जोड़े से परेशान मंत्री जी

केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन का कहना था कि एसी कोच में वह एक वरिष्ठ डीएमके नेता के साथ अहम मुद्दे पर बातचीत कर रहे थे। वह नहीं चाहते थे कि इस शादीशुदा जोड़े की वजह से उनकी मीटिंग डिस्टर्ब हो।

हालांकि केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्‍णन ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, ‘जिस वक्त मैं ट्रेन के फर्स्ट क्लास कोच में घुसा, मेरे साथ डीएमके के वरिष्ठ नेता भी थे। हमने साथ बैठकर 45 मिनट तक बातचीत की। इस दौरान शादीशुदा जोड़ा वहीं पर था। थोड़ी देर बाद डीएमके के कुछ कार्यकर्ता में कोच में आ गए। मैंने उस शादीशुदा जोड़े को पास के अपने केबिन में जाने को कहा। मैंने उन्हें बताया कि वहां उन्हें डिस्टर्बेंस नहीं होगा। बाद में जब मैं अपने केबिन में वापस गया तो देखा कि वो दोनों नहीं थे। मैंने उन्हें सीट दी, अगर वह कहते तो मैं स्लीपर केबिन में भी सफर कर लेता।’

हालांकि अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन भारी उद्योग मंत्रालय संभालते हैं। वह परिवहन मंत्रालय में राज्यमंत्री भी हैं। तमिलनाडु के कन्याकुमारी से सांसद और भाजपा नेता पोन राधाकृष्‍णन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में भी मंत्री रह चुके हैं।

इस मामले के सामने आने के बाद शादीशुदा जोड़े के परिवार ने नाराजगी जताई है। वीवीआईपी ओहदे का रौब दिखाने पर उन्होंने केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन से इस मामले में सार्वजनिक रूप से माफी मांगने के लिए आवाज बुलंद की है।

loading...
शेयर करें