शारदा प्रताप को चुनाव लड़ना पड़ा भारी, पद भी गया और पार्टी भी

0

लखनऊ: आगामी 11 फरवरी से शुरू हो रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने मंत्री शारदा प्रताप शुक्ल को पार्टी के बर्खास्त कर दिया है। सपा के खुद का टिकट काटने के बाद शारदा प्रताप रालोद के टिकट पर इस चुनाव में उतरे हैं। इसी वजह से अखिलेश ने उन्हें मंत्री पद से बर्खास्त कर पार्टी से भी निष्कासित कर दिया है।

शारदा प्रताप शुक्ल

शारदा प्रताप शुक्ल को मंत्री पद से हटाया 

दरअसल, यूपी विधानसभा चुनाव-2012 में शारदा प्रताप शुक्ल सपा के टिकट पर लखनऊ के सरोजनी नगर सीट से चुनाव जीते थे। अखिलेश यादव ने उन्हें मंत्री मंडल में शामिल करते हुए शिक्षा विभाग में राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का पद दिया था। हालांकि इस बार सपा ने इस सीट से उनका टिकट काटकर पार्टी के पूर्व मुखिया मुलायम सिंह यादव के भतीजे अनुराग यादव को सौंप दिया है।

हालांकि, इसके बावजूद शारदा प्रताप रालोद के टिकट पर इस बार फिर चुनावी मैदान में कूद पड़े हैं। यह बार अखिलेश यादव को नागवार गुजरी, जिसकी वजह से उनकी सिफारिश पर राज्यपाल राम नाइक ने उन्हें उनके पद से बर्खास्त कर दिया है।    

इस बात की जानकारी देते हुए सपा प्रवक्ता राजेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि शुक्ला को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पार्टी से भी निकाल दिया गया है।

 

 

loading...
शेयर करें