बाढ़ से बचाने को यूपी सरकार ने खोला खजाना

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ राहत और सुरक्षा को लेकर योजना भवन में उच्चस्तरीय बैठक हुई। बैठक में अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए शिवपाल ने कहा कि एक-दो जिलों के कुछ गांव को छोड़ कहीं भी बाढ़ जैसे हालात अभी नहीं है। हालांकि, प्रदेश के 33 जिले इस मामले में संवेदनशील हैं। इसमें सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव की अध्यक्षता में सभी संभावित बाढ़ प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों ने भाग लिया।

शिवपाल सिंह यादव शिवपाल सिंह यादव ने जारी किया धन राशि

उन्होंने बताया कि बाढ़ सुरक्षा के मद में भी केंद्र ने प्रदेश को अब तक एक भी पैसा नहीं दिया है। राज्य सरकार ने अपने मद से बाढ़ सुरक्षा के लिए प्रभावित जिलों के लिए धन जारी किया है।

हालांकि, बाद में एक सवाल के जवाब शिवपाल ने कहा कि केंद्र से बाढ़ सुरक्षा के मद में जितनी राशि की मांग की गई थी, उससे काफी कम मात्र 24 करोड़ रुपये ही मिल सके हैं।

शिवपाल ने कहा कि बाढ़ राहत के लिए जिलों के जिलाधिकारी समेत सभी जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं। अधिकारियों को दवाइयों के साथ-साथ दैनिक उपयोग की वस्तुओं की व्यवस्था समय से करने के लिए कहा गया है।

उन्होंने चेतावनी दी कि बाढ़ नियंत्रण और सुरक्षा के काम में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी, जो भी जिम्मेदार होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बैठक में मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव सिंचाई समेत मुख्यालय स्तर के सभी शीर्ष अधिकारियों ने भी शिरकत की

शेयर करें