शिवसेना ने अब पार की हदें, मोदी सरकार को दी ये ‘धमकी’

0

मुंबई आए दिन शिवसेना महाराष्ट्र में अपनी सहयोगी पार्टी बीजेपी को निशाने पर लेती रहती है। रोज किसी न किसी मुद्दे पर शिवसेना मोदी सरकार पर निशाना साधती है। इस बार इस बार पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने बीजेपी को धमकी दे डाली। मुंबई महानगरपालिका और नौ अन्य स्थानीय निकायों के आसन्न चुनावों के लिए गठबंधन तोड़ने की कोई इच्छा नहीं होने की बात करते हुए ठाकरे ने मोदी सरकार को धमकी दी। उन्होंने कहा कि वह किसी प्रकार का ‘असंतुलित’ गठबंधन बर्दाश्त नहीं करेगी।

ये भी पढ़ें : केजरीवाल के घर के बाहर धरने पर बैठे महेश गिरी बोले, सीएम माफी मांगे या इस्तीफा दें

शिवसेना

शिवसेना ने मनाया 50वां स्थापना दिवस

शिवसेना के 50वें स्थापना दिवस के अवसर पर उद्धव यहां शिवसैनिकों को संबोधित कर रहे थे। जैसे ही उन्होंने बीएमसी चुनावों की बात छेड़ी, वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने शोर मचाना शुरू कर दिया कि कोई गठबंधन नहीं, हमें अकेले दम पर लड़ने दें। शिवसेना प्रमुख ने कहा कि वह इसका फैसला शिवसैनिकों पर छोड़ते हैं। उन्होंने कहा कि मैं कोई असंतुलित गठबंधन बर्दाश्त नहीं करूंगा।

पार्टी की 50 वर्ष की यात्रा के संबंध में उन्होंने कहा कि इसके 25 साल भाजपा के साथ गठबंधन बनाने में ही गुजर गए। उद्धव ने कहा कि एक शेर हमेशा गर्व के साथ आगे बढ़ता है, लेकिन एक बाघ हमेशा अकेला चलता है और सिर उठाकर शिकार करता है। बता दें कि ये कोई पहला मौका नहीं था जब शिवसेना ने अपनी सहयोगी पार्टी पर वार किया है। इससे पहले भी कई बार वह बीजेपी और पीएम मोदी के खिलाफ कई बार निशाना साध चुके हैं।

ये भी पढ़ें : पाकिस्तान को लेकर सुषमा बोलीं, आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते

इससे पहले भी कई बार मोदी सरकार पर हमला बोला है

बीते दिनों शिवसेना ने गांधी परिवार को समर्थन करते हुए केंद्र सरकार को नसीहत देते हुए कहा था कि वह गांधी परिवार को बदनाम न करें। जिसके बाद पार्टी के नेता संजय राउत ने कहा था कि मोदी सरकार निजाम की सरकार से भी बदतर है। शिवसेना ने प्रधानमंत्री मोदी के विदेश दौरे में देश के भ्रष्टाचार पर की गई टिपण्णी पर तीखे शब्दों में निशाना साधा गया था। संपादकीय में लिखा था कि हाल ही में दोहा में मोदी ने कहा था कि हमारे देश को भ्रष्टाचार ने दीमक की तरह खोखला कर दिया है। पार्टी के अनुसार गैरों के भूमि पर देश के भ्रष्टाचार की मजेदार कहानिंया सुनाकर उपस्थित लोगों की तालियां बटोरना देश की प्रतिमा मलीन करने जैसा है।

loading...
शेयर करें