मांगा राष्ट्रपति का इस्तीफा, 17 लोग हिरासत में

0

बीजिंग| चीन में राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इस्तीफे की मांग को लेकर एक पत्र प्रकाशित होने के बाद 17 लोगों को हिरासत में लिया गया है। ‘बीबीसी’ की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार समर्थित वेबसाइट ‘वुजे न्यूज’ पर इस महीने की शुरुआत में यह पत्र प्रकाशित किया गया था। हालांकि प्रशासन ने जल्द ही इसे हटा दिया, लेकिन इस पत्र का ‘कैश वर्जन’ अब भी ऑनलाइन मौजूद है।

शी जिनपिंग के इस्तीफे की मांग के लिए प्रकाशित किया एक पत्र

पत्र में लिखा है, “प्यारे शी जिनपिंग, हम कम्युनिस्ट पार्टी के वफादार सदस्य हैं। हम पार्टी और सरकार से आपके इस्तीफे की मांग करते हैं।” चीन में विशेष रूप से सरकार से संबद्ध वेबसाइट पर इस तरह के पत्र का प्रकाशित होना चौंकाने वाला है। इस पत्र पर प्रशासन ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। इस पत्र के संबंध में प्रसिद्ध स्तंभकार जिया जिया को हिरासत में लिया गया है। ‘बीबीसी’ ने ‘वुजे’ के एक कर्मचारी से इस बारे में बात की तो उसने पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि जिया जिया के अलावा 16 और लोगों को हिरासत में लिया गया है।

सूत्र के मुताबिक, इसमें वेबसाइट के लिए सीधे तौर पर काम कर रहे छह कर्मचारी (एक वरिष्ठ प्रबंधक और एक वरिष्ठ संपादक सहित) शामिल हैं। इसके साथ ही संबद्ध प्रौद्योगिकी कंपनी के लिए काम कर रहे 10 अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया है।

पत्र में राष्ट्रपति शी द्वारा सारी शक्तियां अपने पास रखने के प्रति गुस्सा जाहिर किया गया है। इसके साथ ही शी पर प्रमुख आर्थिक और राजनयिक कदमों के गलत अनुमानों एवं देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर प्रतिबंध लगाने का आरोप लगयाा गया है। इस पत्र में पिछले महीने शी की सरकारी टेलीविजन और समाचार पत्र के कार्यालयों के दौरे का भी उल्लेख किया गया है, जिसमें शी ने पत्रकारों से कहा था कि उनका प्राथमिक कर्तव्य कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के आदेशों का पालन करना है।

loading...
शेयर करें